class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बाल कैदियों तथा स्टाफ के बीच संघर्ष

पंजाब के होशियारपुर शहर में सुधार गृह से दो दिन पहले भागे एक किशोर के मामले को लेकर गुस्साए कर्मचारियों तथा बाल कैदियों के बीच झड़प हुई। हालात असहनीय होने पर बाल कैदियों ने डयूटी पर तैनात स्टाफ पर पथराव किया तथा फर्नीचर को नुकसान पहुंचाया और लकड़ी के फर्नीचर को आग लगा दी।हालात बेकाबू होते देख पुलिस को बुला लिया गया। पुलिस को आशु गैस छोड़ने के अलावा हल्का बल प्रयोग करना पड़ा। बाद में कैदी बैरकों में लौट आए। एक लड़के को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।


प्राप्त जानकारी के अनुसार एक कैदी के भागने पर स्टाफ की खिंचाई हुई और उसकी भड़ास कैदियों पर निकली। हैड कांस्टेबल सतनाम सिंह तथा रतन सिंह ने शराब के नशे में कुछ कैदियो को बेरहमी से पीटना शुरू कर दिया।इस घटना का सभी ने विरोध किया तो उन्हें फिर मारा पीटा गया। इससे कैदी भड़क उठे और स्टाफ पर पत्थर फैंकने शुरू कर दिए। किसी तरह स्टाफ के सदस्यों ने परिसर से बाहर आकर अपने को बचाया।इस घटना में कुछ लोगों को चोटें आईं।
 

उपायुक्त मेघराज तथा वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक प्रमोद बान सब डिवीजनल मजिस्ट्रेट करनैल सिंह और अन्य अधिकारियों ने वास्तविकता जानने के लिए मौके पर जाकर स्थिति का जायजा लिया। बाद में मेघराज ने पत्रकारों को बताया कि घटना की जांच एसडीएम करेंगे और दो दिन के भीतर रिपोर्ट मिल जाने की संभावना है। उसके बाद ही कोई कार्रवाई की जाएगी। मेघराज सिंह ने सुबह निरीक्षण के दौरान पाया कि कुछ व्यस्क कैदी भी सुधार गृह में ठहरे हुए थे।इन कैदियों की सही उम्र का पता लगाने के लिए मेडिकल करवाने और उन्हें दूसरी जगह भेजने के निर्देश दिए गए हैं।


 सुधार गृह में वर्तमान में 87 किशोर कैदी हैं।जिला सामाजिक सुरक्षा अधिकारी जगदीश मित्तल के पास इसका प्रभार है तथा वह इस घटना के समय मौजूद नहीं थे।वह बिना अनुमति के रोजाना अपने घर दसुआ चले जाते हैं।उनके खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी। पुलिस अधिकारी प्रमोद बान ने बताया कि हैड कांस्टेबल सतनाम को निलंबित कर दिया है तथा सभी चार सुरक्षा गार्डों को पुलिस लाइन भेज दिया गया है। इनकी जगह नए गार्ड तैनात किए हैं। कार्रवाई रिपोर्ट मिलने के बाद की जाएगी। सदर पुलिस ने मामला दर्ज किया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बाल कैदियों तथा स्टाफ के बीच संघर्ष