class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पाक में सरबजीत की सुनवाई अब बुधवार से

पाक में सरबजीत की सुनवाई अब बुधवार से

पाकिस्तान की सुप्रीम कोर्ट ने भारतीय कैदी सरबजीत सिंह को सुनाई गई मौत की सजा को चुनौती देने वाली पुनरीक्षा याचिका पर सुनवाई बुधवार तक स्थगित कर दी। सरबजीत को पाकिस्तान बम धमाकों में शामिल होने का दोषी पाने के बाद मौत की सजा सुनाई गई थी।

शीर्ष अदालत ने सरबजीत के वकील को नोटिस जारी किया। ऐसा उनके अदालत में उपस्थित होने में विफल रहने के बाद किया गया। तीन सदस्यीय पीठ को पुनरीक्षा याचिका पर सुनवाई करनी है।

सरबजीत को 1990 में पाकिस्तान में हुए चार बम धमाकों में संलिप्त रहने का दोषी पाया गया था और उन्हें मौत की सजा सुनाई गई थी।

सरबजीत को गत एक अप्रैल को ही फांसी दी जानी थी लेकिन प्रधानमंत्री यूसुफ रजा गिलानी के इस मामले में हस्तक्षेप करने के बाद उसकी फांसी अनिश्चितकाल के लिए टाल दी गई।

सरबजीत की फांसी पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ ने शुरूआत में 30 दिनों के लिए टाल दी थी। ऐसा इसलिए किया गया था कि पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी नीत सरकार सरबजीत को क्षमा दिए जाने के संबंध में भारत की ओर से की गई अपील पर उसके मामले की समीक्षा कर सके।

पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट और मुशर्रफ ने पहले सरबजीत की क्षमा याचिका ठुकरा दी थी। पिछले साल अक्तूबर में तत्कालीन विधि मंत्री फारूक नाइक ने इस मामले की समीक्षा करने के लिए लाहौर के कोट लखपत जेल में सरबजीत से मुलाकात की थी ताकि राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी इस मुद्दे पर कोई फैसला कर सकें।

नाइक अब सीनेट के अध्यक्ष हैं। उन्होंने तब कहा था कि सरबजीत की याचिका सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दी थी इसलिए सिर्फ राष्ट्रपति को माफी देने या उसकी सजा कम करने का अधिकार है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पाक में सरबजीत की सुनवाई अब बुधवार से