class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नंदन हत्याकांड की गुत्थी सुलझाने में पुलिस नाकाम

नंदन हत्याकांड की गुत्थी नहीं सुलझने से नाराज उसकी मां धना भंडारी ने सोमवार से आमरण अनशनपर बैठने की घोषणा की। धना भंडारी ने बताया कि वह कोतवाल से मिली तो उन्होंने घटना के पदाफार्श के लिए कुछ और समय मांगा है, लेकिन वह अब समय देने वाली नहीं हैं। श्रीनौला धारे के पास रहने वाली धना भंडारी के बीस वर्षीय पुत्र नंदन भंडारी को बीस मई की रात अज्ञात बदमशों ने हत्या कर दी थी और भागीरथी गधेरे में डाल दिया था। घटना के बाद नगर के लोगों ने कोतवाल का घेराव किया। तब पुलिस ने पांच दिन का समय मांगा। पांच दिन पूरे होने के बाद मृतक के परिजनों ने एबीआई तिराहे पर चक्का जाम किया। पुलिस ने हल्का बल प्रयोग करते हुए चक्काजाम खुला दिया। एक महीना बीत जाने के बाद भी हत्याकांड से पुलिस पर्दा नहीं उठा सकी है। मृतक की मां ने पुलिस में नामजद रिपोर्ट लिखाई है।

पुलिस ने सभी आरोपियों को बुलाकर पूछताछ कर ली है। पुलिस के अनुसार सभी आरोपी बेकसूर हैं। नंदन की मां ने प्रभारी कोतवाल बीएस बिष्ट ने मुलाकत की। कोतवाल ने कुछ और दिन का समय देने को कहा। इधर, मृतका की मां ने पुलिस पर उसकी परिवार की उपेक्षा लगाया है। कहा कि नंदन के हत्यारों को पुलिस जानबूझकर गिरफ्तार नहीं कर रही है। हत्यारों से उसके परिवार को खतरा बना हुआ है। चेतावनी दी कि यदि पुलिस जल्द नंदन हत्याकांड की गुत्थी सुलझाने में कामयाब नहीं होती है तो वह आमरण अनशन शुरू करेंगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नंदन हत्याकांड की गुत्थी सुलझाने में पुलिस नाकाम