class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

केन्द्र ने गुजको को प्रभावहीन किया :मोदी

गुजरात के मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा है कि केन्द्र सरकार ने गुजरात संगठित नियंत्रण कानून(गुजको)वापस भेजकर जो सुझाव दिए हैं, वह इस कानून के दांत और नाखून निकालने जैसा है।भारतीय जनता पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में भाग लेने आए मोदी ने शनिवार को संवाददाताओं से कहा कि केन्द्र सरकार इस मामले में दोहरा मापदंड अपना रही है। उन्होंने कहा कि गुजको महाराष्ट्र में संगठित अपराध नियंत्रण कानून (मकोका) की फोटो कॉपी है। उन्होंने कहा कि मकोका को अदालत में चुनौती दी गई थी और तब अदालत ने जो सुझाव दिए थे उन्हे गुजको में शामिल कर लिया है। मोदी ने कहा कि मकोका के बारे में अदालत के सुझावों को शामिल करने, न्याय के तराजू पर नापतौल करने तथा कानूनी रुप से अदालत द्वारा उन्हें स्वीकार किए जाने के बाद गुजको बनाया गया है। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार के सुझावों पर हम कानून और संवैधानिक विशेषज्ञों से परामर्श करेंगे और जरुरी हुआ तो दोबारा गुजरात विधानसभा में विचारार्थ ले जाएंगे। मोदी ने सवाल किया कि गुजरात की सीमा से लगे महाराष्ट्र राज्य में मकोका लागू हो सकता है तो गुजरात में क्यों नहीं। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार ने संगठित अपराध कानून के बारे में सभी राज्यों से सुझाव मांगे थे और उसके अनुसार गुजरात ने पर्याप्त विचार-विमर्श के बाद वर्ष 2004 में केन्द्र को गुजको भेजा, लेकिन गुजरात के सुझाव पर विचार करने में केन्द्र सरकार को पांच वर्ष लगे जो गुजरात के साथ भेदभावपूर्ण नीति का प्रत्यक्ष प्रमाण है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:केन्द्र ने गुजको को प्रभावहीन किया :मोदी