class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लंबी रूटों पर रोडवेज उतारेगा 62 बसें

जल्द ही यात्रियों को लम्बी दूरी की यात्रा के लिए घंटों का इंतजर खत्म हो जाएगा। रोडवेज की अगले महीने से लंबी रूटों पर 62 बसों का उतारने की योजना है। इसकी तैयारियां लगभग पूरी कर ली गई है। बस बसों का इंतजार है।


हरियाणा का उत्तर-प्रदेश और राजस्थान के बीच परिवहन समझौता हो जाने के बाद रोडवेज दूसरे राज्यों के प्रमुख शहरों के लिए बस सेवा को सुदृढ़ करने की दिशा में यह पहल की है। इसी को ध्यान मे रखकर ने साइबर सिटी से यूपी के महत्वपूर्ण शहरों को जोड़ने की योजना तैयार की ली है। इसके साथ हिमांचल और पंजाब में भी रोडवेज बसों की संख्या में वृद्वि किए जाने की योजना है।


जीएम रोडवेज विरेन्द्र सहरावत ने बताया कि जुलाई के पहले सप्ताह तक 62 डीजल बसें रोडवेज को मिलने की पूरी उम्मीद है। इन बसों को आगरा, लखनऊ,, मेरठ, हरिद्वार, देहरादूर, जयपुर,उदयपुर, शिमला सहित कई रूटों पर उतारा जाएगा। उन्होंने बताया कि लंबे रूट पर यात्रियों को बेहतर सुविधाए उपलब्ध कराया जाएगा। इनमें कई रूटों पर बस पहले से चल रही है। लेकिन, कम बसें होने की वजह से यात्रियों को असुविधा हो रही है। जीएम ने कहा कि चंडीगढ़ रूट पर भी वाल्वों के अलावा नई बसों का संचालन किया जाएगा। इन बसों के परिचालन के लिए ड्राइवर और कंडक्टर की कोई कमी नहीं आने दी जाएगी। इसके अलावा रोडवेज सिटी बस सेवा को गुड़गांव से मेवात,अलवर और रेवाडी और बेहतर करने का प्रयास कर रहा है। बसें जसे उपलब्ध होती जाएगी। इसी क्रम से इन रूटों पर उनकी संख्या को बढ़ा दिया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:लंबी रूटों पर रोडवेज उतारेगा 62 बसें