class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बेटियों को सड़क पर छोड़ गया बेरहम बाप

एक बेरहम बाप ने अपनी दो नन्हीं बेटियों को सड़क पर ही उनके हाल पर छोड़ दिया। लावारिस समझ कर लोगों ने बच्चियों को पुलिस के हवाले कर दिया। बच्चियां इस हाल में नहीं हैं कि अपने घर का पता पुलिस को बता सके। पुलिस पता ढूंढ़ कर थक गई तो सरकारी शरण में इन बच्चियों को पहुंचाना पुलिस की मजबूरी बन गई। इस वक्त दोनों बच्चियां मदर टेरेसा होम के संरक्षण में हैं। 

पुलिस को बुधवार शाम सूचना मिली कि सेक्टर-29 के शिरडी साईं मंदिर के पास दो बच्चियां काफी देर से लावारिस हालत में बैठी हैं। मौके पर पहुंची पुलिस ने पाया कि एक चार साल की और एक तीन साल की ये बच्चियां बहनें हैं। बड़ी का नाम केसर और छोटी का सानिया है। सानिया तुतलाकर बात करती है, सिर्फ केसर ही कुछ समझ पाने में सक्षम है। उन्होंने पुलिस को बताया कि उनके पिता का नाम हरीश है और मां गुड़िया। हरीश उन्हें रिक्शा में बैठा कर ले आया और मंदिर के पास बैठे रहने को यह कह कर चला गया कि वह उनके लिए खाने को कुछ लेकर आता है, लेकिन काफी देर तक वह नहीं लौटा।


औद्योगिक क्षेत्र थाना प्रभारी यशपाल विनायक के मुताबिक केसर ने बताया कि वह मनीमाजरा में रहते हैं। सारा मनीमाजरा छान मारा, लेकिन बच्चियों के घर का पता नहीं चल पाया। रिक्शा चालकों से भी पता लगाया, लेकिन हरीश का कुछ पता नहीं चला। एसएचओ के मुताबिक दोनों बच्चियों की वुमेन डेस्क ने देखरेख की। वीरवार को डयूटी मजिस्ट्रेट के समक्ष बच्चियों को ले जाया गया, जहां से उन्हें मदर टेरेसा होम भेजने के निर्देश दिए गए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बेटियों को सड़क पर छोड़ गया बेरहम बाप