class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गंगाजल के लिए तरसे नागरिक

एनएच-24 पर स्थित गंगाजल की पाइप लाइन छति ग्रस्त हो जाने से टीएचए के कई इलाकों में पानी की आपूर्ति प्रभावित रही। दो दिन से लोग बूंद-बूंद पानी के लिए तरस गए। जलकल विभाग द्वारा टच्यूबवेल से पानी सप्लाई करने का दावा भी खोखला साबित हुआ।

जलकल विभाग के अभियंता योगेश श्रीवास्तव का कहना है कि पाइप लाइन की लीकेज ठीक कर ली गई है। शनिवार की सुबह से लोगों को सुचारु ढंग से पानी मिलने लगेगा। खुदाई की वजह से 1100 एमएम की गंगा जल पाइप लाइन छतिग्रस्त होने जाने से इंदिरापुरम, वैशाली, कौशांबी, डेल्टाकॉलोनी आदि इलाकों में गंगा जल की आपूर्ति ठप हो गई।

जिसके कारण नागरिकों को पानी के लिए परेशानी झेलनी पड़ी। वहीं टच्यूबवेल द्वारा की गई पानी की आपूर्ति का प्रेशर इतना कम था कि लोगों को पानी नहीं मिल पाया। सूर्यनगर आरडब्ल्यूए अध्यक्ष जेएस भाटिया ने बताया कि गुरुवार की शाम से घरों में पर गंदे पानी की आपूर्ति हो रही है।

वहीं पानी का प्रेशर कम होने के कारण कुछ ही मिनट बाद आपूर्ति बंद हो गई। न्याय खंड एक, इंदिरापुरम आरडब्ल्यूए अध्यक्ष मानसिंह चौहान ने बताया कि शुक्रवार की सुबह पानी की आपूर्ति तो हुई लेकिन बहुत कम समय के लिए हुई। लोगों को पीने के लिए पर्याप्त पानी नहीं मिल पाया। शाम को भी यही समस्या रही।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गंगाजल के लिए तरसे नागरिक