class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डेवेलपर्स टाउनशिप के बीच बनाएंगें गरीबों के मकान

हाईटैक व इंटीग्रेटिड टाउनशिप के बीच में भी गरीबों के मकान बनेंगें। प्राइवेट डेवेलपर्स द्वारा लगभग साढ़े छह हजर से भी ज्यादा ऐसे मकान बनाए जाएंगे। जो कि जीडीए द्वारा निर्धारित कीमतों एवं आसान किश्तों पर आवंटन किए जाएंगे। न कि बिल्डर द्वारा बेचे जाएंगे।

आवंटन भी डेवेलपर्स अपने मन मुताबिक नहीं कर पांऐगे। मतलब स्पष्ट है कि अब तक गगनचुम्बी व आरामदायक बिल्डिंग खड़ी कर रातोरात करोड़पति होने वाले डेवेलपर्स को बगैर लाभ वाले गरीबों के मकान भी बनाकर देने होंगे। दोनों प्रोजेक्ट एनएच 24 कि किनारे बेस्ट लोकेशन पर है। 

शुक्रवार को जीडीए सभागार में हाईटेक व इंटीगेट्रिड सिटी के डवलपर्स की क्लास ली गई। जीडीए उपाध्यक्ष रामबहादुर ने बताया कि गरीबों को आसान व सुलभ तरीके से सस्ते दामों के मकान उपलब्ध कराना सरकार की प्राथमिकता में है। इंटीगेटिड सिटी व हाईटेक दोनों टाउनशिप में एलआईजी के 2819 तथा ईडब्ल्यूएस के 492 मकान बनने हैं।

दोनों ग्रुप के 3311 मकानों में से साढ़े छह सौ मकान इसी वर्ष बनाकर देने का लक्ष्य दिया गया है। उन्होंने बताया कि अब तक किसी भी डवलपर्स द्वारा गरीबों के  मकान बनाने में रूचि नहीं ली गई,लिहाज आज की बैठक में उन्हें प्राथमिकता के आधार पर टाउनशिप के साथ ही गरीबों के मकान बनाने के निर्देश दिए गए।

डेवेलपर्स को जुलाई में निर्माण कार्य शुरू करने को निर्देश दिए गए जबकि दूसरे लॉट में अक्टूबर महीने में निर्माण शुरू करने को कहा गया। उपाध्यक्ष ने बताया कि गरीबों व अल्प आयवर्ग वाले इन मकानों को जिलाधिकारी की अध्यक्षता में बनी कमेटी की संस्तुति के आधार पर ही जरूरतमंदों को एलॉट किया जाएगा। बीच-बीच में जीडीए द्वारा मॉनिटरिंग भी की जाएगी।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:डेवेलपर्स टाउनशिप के बीच बनाएंगें गरीबों के मकान