class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कोबरा की टीम गांववासियों के हटने का इंतजार करेगी

नक्सल विरोधी विशेष सुरक्षा टीम "कोबरा" फिलहाल पश्चिम बंगाल के लालगढ़ इलाके में रूकी हुई है। वह अपनी अंतिम कारवाई गांववासियों के हटने के बाद ही करेगी । गृहमंत्रालय के सूत्रों ने यह जानकारी दी है ।
 

सूत्रों के मुताबिक मानव ढाल, जिसमें बच्चे और महिलायें भी शामिल हैं , को तितर-बितर करने के बाद ही कमांडों की यह विशेष टीम अपनी कारवाई करेगी ताकि कोई निर्दोष नहीं मारा जाये ।
  

सूत्रों ने बताया , कोबरा फोर्स का गठन विशेष कार्रवाई के लिए किया गया है । एकबार जैसे ही राज्य पुलिस बल और अर्धसैनिक बल गांव से निर्दोष बच्चों और महिलाओं को हटा लेगा। यह विशेष टीम भारी हथियारों से लैस माओवादियों को मुंहतोड़ जवाब देने के लिए अग्रसर हो जाएगी । 

इलाके में कोटेश्वर राव जैसे कई सीनियर नक्सलियों की मौजूदगी की सूचना मिलने के साथ ही कोबरा टीम के सदस्यों को उड़ीसा से विमान के जरिए पश्चिम बंगाल के लालगढ़ लाया गया है ।
  

उड़ीसा और झारखण्ड की पुलिस को सीमावर्ती इलाकों में सतर्कता बढ़ाने को कहा गया है क्योंकि कोबरा फोर्स द्वारा अभियान चलाये जाने के साथ माओवादी इन राज्यों की ओर भागने की कोशिश कर सकते हैं ।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कोबरा की टीम गांववासियों के हटने का इंतजार करेगी