class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विश्व अर्थव्यवस्था में सुधार के संकेत: आईएमएफ

विश्व अर्थव्यवस्था में सुधार के संकेत: आईएमएफ

विश्व अर्थव्यवस्था में सुधार के संकेतों के मद्देनजर अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) के अपने 2010 के विकास संबंधी अनुमानों के संशोधित करने की संभावना है। आईएमएफ ने कहा कि मंदी गहराने की दर में कमी आई है।

आईएमएफ के उप प्रबंध निदेशक जॉन लिप्सकी ने तुर्की व्यापार सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि मंदी के गहराने की दर में कमी आई है, जिससे अर्थव्यवस्था में सुधार के संकेत हैं। हालांकि  उन्होंने कहा कि मंदी से पार पा लेने की घोषणा करना अभी बहुत जल्दबाजी होगी। उन्होंने कहा कि वित्तीय स्थिति सामान्य होने से अभी दूर है और विश्व अर्थव्यवस्था मंत्री के ही दौर में है।

जॉन ने तुर्की के उद्योगपतियों और व्यवसायिक संघों के लिए लिखित बयान में कहा कि ताजा आंकड़े बताते हैं कि वैश्विक अर्थव्यवस्था के संकुचन की गति धीमी हुई है, लेकिन अर्थव्यवस्था में सुधार की रफ्तार और समय के बारे में अभी भी बड़ी अनिश्चितता है। हालांकि उन्होंने कहा कि मंदी के गहराने की दर से कमी आने के संकेत है, वित्तीय स्थिति सुधरी है, विश्वास निरंतर बढ रहा है और भविष्य के उत्पादन और मांग के संकेतक सुदृढ हुए हैं।

उन्होंने कहा कि इस पृष्ठभूमि में मैं उम्मीद करता हूं कि आगामी सप्ताहों में विकास के अनुमान को हम मामूली सुधार के साथ संशोधित करेंगे, खासकर 2010 के परिप्रेक्ष्य में है। लिप्सकी ने कहा कि तुर्की की अर्थव्यवस्था सुधार की राह पर हो सकती है, लेकिन वित्तीय घाटे से विकास के लिए आ रहा बदलाव बाधित हो सकता है। उन्होंने कहा कि तुर्की में उपभोक्ता विश्वास में मजबूती आ रही और उत्पादन व रोजगार बढ़ रहा है, लेकिन यहां का वित्तीय घाटा चिंता का विषय है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:विश्व अर्थव्यवस्था में सुधार के संकेत: आईएमएफ