class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लालगढ़ में किसी अनहोनी के लिए तैयार रहें: चिदंबरम

लालगढ़ में किसी अनहोनी के लिए तैयार रहें: चिदंबरम

गृह मंत्री पी चिदंबरम ने पश्चिम बंगाल के लालगढ़ में माओवादियों के विरुद्ध कार्रवाई की प्रगति को योजना के अनुरूप बताते हुए कहा है कि वहां किसी भी अनहोनी के लिए हमें तैयार रहना चाहिए।


चिदंबरम ने केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक के बाद संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि माओवादियों के विरुद्ध कार्रवाई निर्धारित योजना के अनुरूप चल रही है, लेकिन वह यह नहीं कह सकते कि सुरक्षा बल कब तक लालगढ़ पहुंच पाएंगे। उन्होंने कहा कि यह कार्रवाई मुख्य रूप से राज्य पुलिस कर रही है तथा केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल इसमें उसकी मदद कर रही है।

चिदंबरम ने इस कार्रवाई को युद्ध की संज्ञा दिए जाने को अनुचित बताया और कहा कि कोई सरकार अपने लोगों के विरुद्ध युद्ध नहीं छेड़ सकती। उन्होंने कहा कि यह कार्रवाई उन उग्रवादियों के विरुद्ध है जो हथियारों और हिंसा के बल पर अपनी बात मनवाना चाहते हैं और कुछ इलाके या क्षेत्र पर अपना शासन चलाना चाहते हैं।

उन्होंने कहा कि हम चाहते हैं कि ये लोग अपने हथियार डाल दें तथा राज्य सरकार से बातचीत के जरिए अपनी समस्या का समाधान करें। यदि वे ऐसा नहीं करते हैं तो उन्हें सरकार की कार्रवाई का सामना करना पड़ेगा। चिदम्बरम ने कहा कि कार्रवाई में लगे सुरक्षाबल लाउडस्पीकर तथा परचों के जरिए लोगों को यह समझाने का प्रयास कर रहे हैं कि यह कार्रवाई उनके और विशेषकर आदिवासियों के खिलाफ नहीं है।

उन्होंने कहा कि कोई किसी की हत्या नहीं करना चाहता हैं। हम चाहते हैं कि लालगढ़ तथा उसके आसपास के इलाकों में पुलिस थाने पहले की तरह काम करने लगें। गृहमंत्री ने माओवादियों से बातचीत के लिए आगे आने की राज्य के मुख्यमंत्री बुद्धदेव भट्टाचार्य की अपील का समर्थन करते हुए कहा कि माओवादियों की ओर से कोई बातचीत करना चाहता है तो उसे आगे आना चाहिए। उन्होंने कहा कि इस बातचीत में यदि केंद्र सरकार की किसी तरह की मदद की जरुरत हो तो हम इसके लिए तैयार हैं।

एक प्रश्न के उत्तर में उन्होंने कहा कि वह नहीं बता सकते कि लालगढ़ इलाके में कितने माओवादी उग्रवादी हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने इस कार्रवाई के लिए पर्याप्त संख्या में सशस्त्र पुलिस बल उपलब्ध कराए हैं जो इस कार्रवाई का नेतृत्व कर रहे हैं। केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल भी इसमें उसकी मदद कर रहा है। उन्होंने कहा कि हालांकि इस तरह की कार्रवाई के समय यह अंतर करना मुश्किल हो जाता है कि कौन कार्रवाई का नेतृत्व कर रहा है और कौन मदद।

चिदम्बरम ने कहा कि केंद्र और पश्चिम बंगाल सरकार के बीच संपर्क लगातार बना हुआ है। राज्य के मुख्यमंत्री ने गुरुवार देर रात उनसे फोन पर बात की थी। उन्होंने कहा कि भट्टाचार्य शनिवार को प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और उनसे मुलाकात करने वाले हैं। गृह मंत्री ने कहा कि यह खुशी की बात है कि राज्य सरकार ने हमारी बात मान ली।

एक अन्य प्रश्न के उत्तर में उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल में कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी) पर प्रतिबंध लगाया जाना चाहिए जैसा अन्य राज्यों में हैं। उन्होंने कहा कि नक्सलवाद से निपटने के लिए हम केंद्रीय सुरक्षा बल उपलब्ध कराने के लिए तैयार हैं, लेकिन नक्सलियों के विरुद्ध कार्रवाई तदर्थ आधार पर नहीं बल्कि सुनियोजित ढंग से होनी चाहिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:लालगढ़ में किसी अनहोनी के लिए तैयार रहें: चिदंबरम