class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लालगढ़ में मुकाबले को डटे हजारों ग्रामीण

लालगढ़ में मुकाबले को डटे हजारों ग्रामीण

पश्चिम बंगाल के अशांत लालगढ़ इलाके से हथियारबंद माओवादियों को खदेड़ने के लिए सुरक्षा बलों ने गुरुवार को कार्रवाई तो शुरू कर दी लेकिन उन्हें कदम-कदम पर कड़े प्रतिरोध का सामना करना पड़ रहा है।

जहां एक ओर बारूदी सुरंगों की आशंका, जगह-जगह खड़े किए गए अवरोध और खोद डाली गई सड़कों के कारण कठिनाई पेश आ रही है वहीं हजारों की संख्या में ग्रामीणों की मानव दीवार सुरक्षा बलों के समक्ष चुनौती बनकर खड़ी है।

लालगढ़ से कुछ किलोमीटर पहले पिड़ाकाटा, मालीदा और पिपराखुली में माओवादियों के नेतृत्व में जुटे हजारों लोगों की भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े और जमकर लाठीचार्ज किया। पुलिस व भीड़ दोनों ओर से गोलीबारी की भी खबरें हैं।

पुलिस कार्रवाई में कम से कम 15 लोगों के जख्मी होने की खबर है। लालगढ़ अंचल से15 किलोमीटर दूर एक-एक गांव की घेरेबंदी कर धरपकड़ की जा रही है और जंगलों में भी सघन तलाशी अभियान छेड़ा गया है। ‘ऑपरेशन लालगढ़’ में राज्य पुलिस के अलावा सीआपीएफ के 500 जवान और माओवादियों से निपटने के लिए खास तौर पर प्रशिक्षित कोबरा फोर्स के 200 जवान शामिल हैं। बड़पलिया, छोटपलिया, रामगढ़, धरमपुर में भी हजारों आदिवासी तीर कमान लिए प्रतिरोध के लिए डटे हुए हैं।

इन इलाकों में रास्ते काट डाले गए हैं और कई जगह लैंडमाइन बिछी होने की आशंका है। खास लालगढ़ के जंगलों में सशस्त्र माओवादियों ने पोजिशन ले रखा है। वे पेड़ों में छिपे हैं। उनकी उंगली ट्रिगर पर है।

इस बीच माओवादियों द्वारा अगवा माकपा के चार कैडरों के शव गुरुवार को लालगढ़ से बरामद किए गए। इसके साथ ही मंगलवार से अब तक इस इलाके में कुल 10 माकपा कार्यकर्ता मारे ज चुके हैं।

उधर, पुलिस अभियान के विरोध में लालगढ़ में सक्रिय सीपीआई (माओवादी) के सबसे प्रमुख नेता किशनजी ने सोमवार से पांच राज्यों -पश्चिम बंगाल, झरखंड, बिहार, उड़ीसा व छत्तीसगढ़ में 48 घंटे के बंद का आह्वान किया है।

दरअसल, पश्चिमी मिदनापुर जिले में स्थित लालगढ़ में नक्सलियों ने स्थानीय आदिवासियों के  साथ मिलकर एक आंदोलन छेड़ रखा है, जिसे ‘पुलिस उत्पीड़न विरोधी जन समिति’ नाम दिया गया है।

आदिवासी बहुल इस इलाके के अनेक गांवों पर माओवादियों ने कब्ज कर लिया है। इलाके में करीब एक हजर गांव हैं जिनमें लगभग 60 हजार आबादी बसती है।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:लालगढ़ में मुकाबले को डटे हजारों ग्रामीण