class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तरक्की और वेतन

अच्छे काम को मान्यता देने के लिए प्रबंधन की तरफ से कर्मचारी को प्रमोशन और वेतन वृद्धि दी जाती है। इसके बारे में कुछ सवाल अहम हैं क्या आप अपने परफॉर्मेस रिव्यू लैटर से संतुष्ट नहीं हैं? क्या आप इससे निराश और ठगा हुआ महसूस कर रहे हैं?

ऐसे में कुछ लोग कंपनी बदलने की सोचते हैं, तो कोई बॉस से बात करते हैं। चूंकि तरक्की और तनख्वाह में इजफा दोनों ही अच्छे काम की मान्यता के प्रमाण हैं, इस बारे में कोई भी फैसला काफी सोच विचार कर ही करना चाहिए।

विचारणीय बिंदु

प्रमोशन का मतलब है बड़ी जिम्मेदारी। इसके साथ ही वेतन और सुविधाओं में इजाफा करने के लिए सीटीसी बढ़ाया जता है। अगर नई नौकरी ले रहे हैं, तो नियोक्ता को बेहतर वेतन के लिए इम्प्रैस करना होता है।

प्रमोशन का ऐलान सार्वजनिक तौर पर किया जाता है, लेकिन वेतन का मसला गुप्त रखा जाता है। क्योंकि इसके सार्वजनिक हो जाने से कर्मचारियों में अनावश्यक कानाफूसी का दौर चल पड़ता है।

जो व्यक्ति अल्प वेतन वर्ग में होता है, वह प्रमोशन पर वेतन वृद्धि को तरजीह देता है, जबकि संतोषजनक वेतन पाने वाले को प्रमोशन की तलब होती है।

उसी कैडर में ज्यादा जिम्मेदारी लेकर अगले ग्रेड में प्रमोशन लेने के बजय ज्यादातर लोग जिम्मेदारी से बचने के लिए सिर्फ वेतन बढ़वाना चाहते हैं।

अगर वेतन वृद्धि मामूली होती है, तो कर्मचारी अधिक सुविधाओं के साथ प्रमोशन लेना पसंद करते हैं।

करियर में आगे बढ़ने के लिए प्रमोशन अहम है, न कि वेतन वृद्धि। बड़े पद पर देर सबेर मार्केट रेट पर वेतन तो बढ़ ही जाता है।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:तरक्की और वेतन