class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सरकारी स्कूल के बच्चों का भी होगा पर्सनेलिटि डेवेलॉपमेंट

यूपी बोर्ड अब हर मामले में पब्लिक स्कूलों से टक्कर लेने के लिए कमर कस रहा है। एक ओर जहां बोर्ड की ओर से शैक्षणिक गुणवत्ता बढ़ाने के लिए शिक्षकों को ट्रेनिंग दी जा रही है वहीं दूसरी ओर बच्चों की पर्सनेलिटि डेवेलॉपमेंट के लिए नए प्लान शुरू होने वाले हैं।

नए सत्र से बच्चों को डेवेलॉप करने और उनकी क्षमताओं का विकास करने के लिए पर्सनेलिटि डेवेलॉपमेंट प्रोग्राम चलाए जाएंगे। जिनमें पर्सनेलिटि एनहांसमेंट के लिए सेमिनार होगा, बच्चों को कैसे बोलना है, विभिन्न जगहों पर कैसे बोलते हैं, कैसे विहेव करते हैं आदि सिखाया जाएगा।

साथ ही उन्हें अंग्रेजी बोलने की शिक्षा भी दी जाएगी ताकि बच्चे भविष्य में उसका इस्तेमाल अपनी बेहतरी के लिए कर सकें। बेसिक शिक्षा अधिकारी का कहना है कि सभी पढ़ाई करने के बाद भी हमारे बच्चे अग्रेजी बोल न सकने और अपने बिहेवियर के कारण पब्लिक स्कूलों के बच्चों से पिछड़ जते हैं। अगर बेसिक स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों को सबके साथ कंपीट करना है तो उनके लिए पर्सनेलिटि डेवेलॉपमेंट जरूरी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सरकारी स्कूल के बच्चों का भी होगा पर्सनेलिटि डेवेलॉपमेंट