class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बहादुर महिला ने बचाया बैंक लुटने से

पंचकूला में एक के बाद एक हुई लूट की घटनाओं के बाद बुधवार को बारी मोहाली की थी। फेज-11 स्थित बैंक ऑफ महाराष्ट्र बुधवार सुबह नकाबपोश लुटेरों के निशाने पर आया, लेकिन कैशियर के मौके पर पहुंचकर शोर मचाने से उनकी बैंक लूटने की कोशिश नाकाम हो गई। हालांकि, वहां से जाते-जाते वह महिला कैशियर को गोली मारकर और एक सेवादार को पिस्तौल का बट मारकर घायल कर गए। दोनों घायल उपचाराधीन हैं। पुलिस ने मामला दर्ज करके लुटेरों की तलाश शुरू कर दी है, लेकिन बैंक में सीसीटीवी कैमरा न लगे होने के कारण उन्हें ट्रेस करने में दिक्कत आ रही है।


मौके से मिली जानकारी के मुताबिक लुटेरे सुबह करीब 8.30 बजे बैंक पहुंचे। वह क्रीम कलर की सफारी में सवार थे। इनमें से दो सफारी में ही बैठे रहे, जबकि तीन बैंक की तरफ बढ़े। जैसे ही सफाई कर्मचारी जतिंदर सिंह ने बैंक का गेट खोला, हाथ में पिस्तौल लिए तीनों लुटेरे उसके पीछे अंदर प्रवेश कर गए। उन्होंने कर्मचारी के सिर पर पिस्तौल ताना और उसके हाथ बांधकर उसे बेसमेंट में ले गए। एक लुटेरा बेसमेंट में ही रहा और बाकी दो ग्राउंड फ्लोर पर आ गए। बैंक के डिप्टी मैनेजर बलदेव सिंह के अनुसार इसके बाद गनमैन रणजीत सिंह वहां आया तो लुटरों ने उसे भी बंधक बना लिया और बेसमेंट में ले गए। बलदेव सिंह व विनीत कुमार को भी उन्होंने बंधक बनाया। इसके बाद बैंक की कैशियर परमिंदर कौर करीब पौने दस बजे बैंक पहुंचीं तो उन्होंने लुटेरों को देखकर शोर मचाना शुरू कर दिया। इस पर उन्होंने परमिंदर कौर पर गोली चला दी, जो उनके सिर से लग कर निकल गई।
लुटेरे वहां से भाग निकले और जाते-जाते बैंक के सेवादार जतिंदर कुमार को बंदूक का बट मारकर घायल कर गए। दोनों घायलों को सेक्टर-32 के सरकारी अस्पताल में भर्ती करवाया गया। बंधक बनाए गए कर्मचारी किसी तरह से ऊपर आए और घटना की जनकारी पुलिस को दी। उन्होंने बताया कि लुटेरे पंजाबी में बोल रहे थे और मुंह ढके हुए थे। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई। मौके पर पहुंचे एसएसपी जतिंदर सिंह औलख ने बताया कि खून के सैंपल और फिंगर प्रिंट ले लिए गए हैं और इन्हें जांच के लिए फॉरेंसिक लैब भेज दिया गया है। घटनास्थल पर खोजी कुत्ते भी बुलाए गए। इस बारे में अज्ञात लोगों के खिलाफ आईपीसी की दफा 341, 511, 307, 397, 452 के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है।


जाली निकला सफारी का नंबर
एसएसपी औलख ने बताया कि सफारी पर जो नंबर लिखा हुआ था, वह जाली था। यह नंबर गांव भागोमाजरा निवासी की गाड़ी को अलॉट हुआ है। इस बीच पंचकूला पुलिस भी मौके पर पहुंची और जांच में शामिल हुई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बहादुर महिला ने बचाया बैंक लुटने से