class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पीयू रैगिंग रोकने की कवायद

रैगिंग की घटनाओं पर पूरी तरह से लगाम कसने के लिए पंजाब यूनिवर्सिटी भी हेल्पलाइन सेवा शुरू करने की योजना बना रहा है। यूनिवर्सिटी ग्रांट्स कमीशन की तर्ज पर पीयू द्वारा शुरू किए जाने वाले इस हेल्पलाइन नंबर पर 24 घंटे सेवा उपलब्ध होगी। इस सेवा से न सिर्फ पीयू कैंपस बल्कि सभी 178 कॉलेजों को भी जोड़े जाने का विचार है। योजना के तहत सुनिश्चित करने की कोशिश होगी कि जो सूचना आए, उस पर 20 मिनट के अंदर तक कार्रवाई हो जाए और पीड़ित छात्र को मदद पहुंचाई जा सके।


योजना के तहत एक टोल फ्री नंबर जारी किया जाएगा। इस नंबर को पीयू के एडमिनिस्ट्रेटिव ब्लॉक के निचले हिस्से में स्थापित कंट्रोल रूम से जोड़ा जाएगा। कंट्रोल रूम में पीयू के सुरक्षाकर्मियों की डयूटी सदैव रहती है। ऐसे में अगर कोई छात्र रैगिंग के बारे में जनकारी मुहैया कराता है, तो कंट्रोल रूम में बैठे सुरक्षाकर्मी के साथ ही इसकी जानकारी डीन स्टूडेंट वेलफेयर, हॉस्टल वार्डन या फिर कॉलेजों के प्रिंसिपल को मुहैया कराएंगे। इस कंट्रोल रूम में सभी संबंधित नंबर उपलब्ध कराए जाएंगे। मामले में त्वरित कार्रवाई हो, यह सुनिश्चित किया जाएगा।
उल्लेखनीय है कि इस सुविधा के अलावा पीयू ने अगस्त महीने में रैगर्स डे मनाने का भी फैसला किया है। इसके तहत सभी छात्रों को एक ही ग्राउंड में एकजुट कर पार्टी दी जाएगी। इस दौरान कुछ डोनेशन का भी प्रावधान होगा। छात्र अपनी मर्जी के हिसाब से इसमें आर्थिक सहयोग देंगे, जिसका उपयोग जरूरतमंद छात्रों के हितार्थ होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पीयू रैगिंग रोकने की कवायद