class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फ्यूज चोरों से पावर कारपोरेशन परेशान

फ्यूज चोरों ने पावर कारपोरेशन की नाक में दम कर रखा है। मैन लाइन पर लगे फ्यूज चोरी होने की वजह से मुख्य शहर की सप्लाई अक्सर चौपट हो जती है। कारपोरेशन को इन चोरों का इलाज न मिलने से काफी परेशानी हो रही है।

शहर में बिजली सप्लाई के ढांचे को फ्यूज चोरों ने ध्वस्त कर रखा है। पावर अधिकारियों के मुताबिक मैन लाइन से ट्रांसफार्मर को बिजली दी जाती है। वहां से संबंधित एरिया को सप्लाई जाती है। ट्रांसफार्मर से निकलने वाली लाइनें एक बॉक्स के द्वारा क्षेत्रों को जाती हैं। इस बॉक्स में लाइनों को थ्रू करने के लिए फ्यूज लगाए जाते हैं।

अधिकारियों ने बताया कि इस बॉक्स से तीन लाइनें निकलती हैं। जिनमें अलग-अलग फ्यूज लगे होते हैं। लाइनों में अलग-अलग फ्यूज लगाने के पीछे कारण है कि यदि एक लाइन में खराबी आती है तो अन्य लाइनें चलती रहती हैं। लेकिन बिजली चोरों के फ्यूज ही उड़ा ले जाने से एक लाइन में खराबी आने पर अन्य लाइनें भी ठप हो जाती हैं।

एक्सईएन पीके मित्तल ने बताया कि इसको ठीक करने के लिए 11 केवीए का शटडाउन लेना पड़ता है। जिससे पूरा बिजलीघर ही बंद करना पड़ जाता है। यही नहीं फ्यूज न होने की वजह से बीते दिनों फाल्ट इतनी जोर से रिफलेक्ट हुआ कि मुरादनगर बिजलीघर में भी खराबी आ गई।

मित्तल ने बताया कि मुख्य शहर में राकेश मार्ग और मुकुंद नगर में फ्यूज चोरी होने की वजह से आए दिन सप्लाई चौपट रहती है। जिसको ठीक करने के लिए दुबारा फ्यूज लगा दिए जाते हैं। अगले दिन देखने पर नए फ्यूज भी गायब होते हैं।

उन्होंने बताया मैन लाइन पर पड़ने वाले इन इलाकों की वजह से पूरे शहर को बिजली कटौती की समस्या से दो-चार होना पड़ता है। स्टाफ कम होने की वजह से चैकिंग में समस्या आती है। जिसका फायदा उठाकर बिजली चोर अपने काम दिखा जाते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:फ्यूज चोरों से पावर कारपोरेशन परेशान