class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सीबीआई पर भारी कई बिहारी!

सीबीआई पर भारी हैं कई बिहारी! इनमें बड़े गैंगस्टर और फर्जीवाड़ा करने वाले से लेकर पुलिस वाले तक शामिल हैं। खास बात यह है कि बिहार के रहने वाले एक फ्रॉड की तलाश में इंटरपोल तक ने नोटिस जारी की है। ये इतने शातिर हैं कि लाख कोशिशों के बावजूद देश की टॉप जांच एजेंसी सीबीआई भी इन तक नहीं पहुंच पा रही। लिहाजा हाथ मल रही सीबीआई ने थक हार कर इन भगोड़ों को वांटेड की सूची में डाल दिया है।


मखदुमपुर के रहने वाले 60 वर्षीय देवनंदन प्रसाद का नाम तो दुनिया के मोस्ट वांटेड आतंकी दाउद इब्राहिम के साथ इंटरपोल की सूची में दर्ज है। यह शातिर फ्रॉड हिन्दी और अंग्रेजी धड़ल्ले से बोलता है। दिल्ली की तीसहजारी कोर्ट ने इसके खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी कर रखा है। हाजीपुर के जरूआ का रहने वाला बैजनाथ दास उर्फ अनिल कुमार हेमंत तो सीबीआई इंस्पेक्टर बनकर कई लोगों को चूना लगाता रहा है। पर, अब तक सीबीआई की पकड़ से बाहर है। पटना के पूर्वी बोरिंग कैनाल रोड के रहने वाले विजय कुमार प्रधान को फर्जी बैंक ड्रॉफ्ट के मामले में सीबीआई को तलाश है। यह मामला करीब 37 लाख रुपए से जुड़ा है। खास बात यह है कि सीबीआई के पास प्रधान की फोटो तक नहीं है।

पटना पुलिस का एक सिपाही अरुण कुमार सिंह भी सीबीआई की वांटेड लिस्ट में है। मुजफ्फरपुर के हरका कल्याण का रहने वाला यह सिपाही पटना में न्यू पुलिस लाइन के क्वार्टर नंबर-1 में रहता था। सीबीआई को वर्ष 2004 से ही इसकी तलाश है। बिहार सरकार के पूर्व मंत्री बृजबिहारी प्रसाद हत्याकांड में गोपालगंज के कुख्यात सतीश पाण्डेय, नागा उर्फ ब्रजेश उर्फ ब्रिजेश की तलाश है। इसी मामले में मुकेश सिंह और भूपेन्द्र दुबे को भी सीबीआई ढूंढ़ रही है। यह बिहार का हाई प्रोफाइल हत्याकांड है। इनके अलावा कई और ऐसे भगोड़े हैं जिन्हें सीबीआई वर्षो से तलाश रही है। गोपालगंज के दयाशंकर तिवारी को लोन में फर्जीवाड़ा के मामले में सीबीआई तलाश रही है। बड़हिया के बृजनंदन शर्मा पर समस्तीपुर के कुछ रेलकर्मियों के साथ मिलकर लंबी यात्रा करने वाले यात्रियों को जाली रेल टिकट जारी करने का आरोप है। कटिहार स्टेशन पर असम मेल में एक सीनियर टीटीई ने इसका खुलासा किया था। खास बात यह है कि शर्मा के खिलाफ 21 फरवरी 1970 को ही मामला दर्ज किया गया था। हालांकि अभी तक सीबीआई को उसकी फोटो तक नहीं मिल पायी है।

 

 

 

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सीबीआई पर भारी कई बिहारी!