class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

150 कॉलेजों में प्रवेश पर संकट

कई तरह की अटकलों के बीच गढ़वाल केंद्रीय विश्वविद्यालय ने नये सत्र के लिए प्रवेश प्रक्रिया शुरु कर दी है। विवि के तीन परिसरों श्रीनगर, टिहरी व पौड़ी के मामले में तो स्थिति साफ हो गई लेकिन 150 संबद्ध महाविद्यालयों में किस तरह से प्रवेश होंगे, इस संबंध में संशय बरकरार है।


केंद्रीय विवि की प्रवेश परीक्षा शुरू हो गई और इसके साथ ही डेढ़ सौ कॉलेजों के सामने संकट खड़ा हो गया है। केन्द्रीय विवि के एडमीशन फार्म 1 जुलाई से मिल रहे हैं। उच्च शिक्षा उप निदेशक डॉ. विपिन उप्रेती ने बताया विवि द्वारा महाविद्यालयों के संबंध में क्या स्थिति होगी, यह स्पष्ट नहीं किया गया है। फिलहाल, विवि व शासन के निर्णय का इंतजार है। विवि द्वारा जारी नोटिफिकेशन में 150 महाविद्यालयों को स्वयं से संबद्ध तो बताया गया है, लेकिन प्रवेश केवल परिसरों के लिए आमंत्रित किए हैं। क्योंकि, विज्ञप्ति में उन्हीं विषयों व उपाधियों का जिक्र है जो इन तीन परिसरों में उपलब्ध हैं।


विवि से संबद्ध 34 हजार छात्र संख्या वाले सबसे बड़े महाविद्यालय डीएवी में भी गुरुवार को कई तरह के कयास लगाते रहे। प्राचार्य डा. अशोक कुमार ने बताया अभी तक नई स्थिति के बारे में कोई सूचना नहीं मिली है। एसजीआरआर के प्राचार्य डा. बीए बौड़ाई ने बताया विवि से कोई गाइडलाइन नहीं मिली है। लेकिन, कॉलेज अपने स्तर पर आवेदनपत्र प्रकाशित करा रहा है।


नोटिफिकेशन से टिहरी परिसर के बारे में लग रही अटकलें शांत हो गई हैं। इस परिसर को नये विवि का मुख्यालय बनाकर इससे महाविद्यालयों को संबद्ध करने की बात कही जा रही थी। शिक्षक समुदाय यह अनुमान लगा रहा है कि संभवत: महाविद्यालयों के बारे में शासन स्तर पर निर्णय हो चुका है और इस बारे में एक-दो दिन में घोषणा हो जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:150 कॉलेजों में प्रवेश पर संकट