class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

निकाय कर्मचारियों की हड़ताल के दौरान 40 गिरफ्तार

उत्तराखंड राज्य के विभिन्न निकायों के कर्मचारियों की छठे वेतन आयोग की सिफारिशों के आधार पर वेतनमान लागू करने की मांग को लेकर गत रविवार की आधी रात से शुरू अनिश्चितकालीन हड़ताल का गुरुवार को चौथा दिन है। पुलिस ने गुरुवार को चालीस कर्मचारियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया ।

हड़ताली कर्मचारियों ने गुरुवार से जेल भरो आंदोलन चलाने की घोषणा की थी जिसके चलते स्थानीय कोतवाली थाने के तहत गांधी पार्क से चालीस कर्मचारियों को गिरफ्तार कर लिया गया और उन्हें जेल भेज गया । राज्य में निकाय कर्मचारियों की हड़ताल के चलते राज्य के कुछ क्षेत्रों में हजारों लोग आज भी पानी से वंचित रहे वहीं सफाई न होने से यात्रा सीजन पर आये सैकड़ों सैलानियों का वापस जाने का सिलसिला जारी है । 


राज्य के दून नगर निगम  विभिन्न नगर पालिका  मसूरी देहरादून विकास प्राधिकरण जल संस्थान और पंचायत निकायों के हजारों कर्मचारियों ने राज्य सरकार के साथ बातचीत असफल हो जाने के बाद रविवार की रात से अपनी अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू कर रखी है । राज्य सरकार द्वारा हड़ताल के खिलाफ आवश्यक सेवा अधिनियम (एस्मा) लागू करने के बावजूद भी हड़ताली कर्मचारियों पर कोई फर्क नहीं पड़ा है और हड़ताल बदस्तूर जारी है । 
  

उत्तराखण्ड निकाय कर्मचारी महासंघ के अध्यक्ष भूपेंद्र सिंह रावत ने आरोप लगाया कि कर्मचारियों की उचित मांग के प्रति सरकारी अधिकारियों का रवैया पूरी तरह से असंतोषजनक है और इसीलिये उन्हें अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने के लिये मजबूर होना पड़ा है ।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:निकाय कर्मचारियों की हड़ताल के दौरान 40 गिरफ्तार