class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जीआरपी जवानों द्वारा की गई पिटाई ने तूल पकड़ा

महिला कांस्टेबल के मित्र की जीआरपी जवानों द्वारा की गई पिटाई ने तूल पकड़ लिया है। बुधवार को उत्तरांचल मानवाधिकार एसोसिएशन ने घटना की कड़ी भर्त्सना करते हुए राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग को मामले से अवगत कराया। उधर, पिटे युवक के परिजनों ने पुलिस के आरोपों को झुठलाते हुए बताया कि महिला कांस्टेबल और युवक की सगाई हो चुकी है। पुलिसकर्मियों ने साजिशन उसे फंसाया और उसके साथ जमकर मारपीट की।


मंगलवार को जल संस्थान के अधिशासी अभियंता के चालक लक्ष्मण ¨सह नेगी जीआरपी में तैनात महिला कांस्टेबल से बैरक में मिलने आया था। दोनों का काफी समय से प्रेम प्रसंग चल रहा है। उस दिन में किसी काम से उससे मिलने आया हुआ था। आरोप है कि एसओ जीआरपी आरपी सती ने उससे गाली गलौज और अभद्रता शुरू कर दी। उसके बाद तीर चार सिपाहियों ने उसे जमकर पीट दिया। पुलिस का आरोप था कि बैरक में रह रही अन्य महिला कांस्टेबल की शिकायत पर जब लक्ष्मण सिंह को वहां से चले जाने को कहा गया तो वह पुलिस वालों के साथ ही मारपीट करने लगा। पुलिस के अनुसार वह शराब के नशे में धुत था। बुधवार को उत्तरांचल मानवाधिकार एसोसिएशन ने राष्ट्रीय मानवाधिकारी आयोग को ज्ञापन प्रेषित कर मामले की जांच का अनुरोध किया। एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष आलोक घिल्डियाल ने बताया इस घटना से दून की समस्त जनता भयभीत है। पुलिस के आलाधिकारियों को इस मामले में उचित कार्रवाई करनी चाहिए।


वहीं लक्ष्मण ¨सह नेगी के पिता विरेंद्र सिंह नेगी ने बताया की महिला कांस्टेबल नीलू से उनके बेटे की सगाई हो चुकी है। लक्ष्मण को पुलिस कर्मियों ने जबरदस्ती फंसा कर मारापीटा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जीआरपी जवानों द्वारा की गई पिटाई ने तूल पकड़ा