class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दशहरी 40 रुपए किलो तक पहुंचा, मौसम का कहर बना जिम्मेदार

हरी सब्जियों के बाद रसीला दशहरी आम भी लोगों की पहुंच से बाहर हो गया है। बेमौसम आई आंधी से बर्बाद हुई फसल के कारण दशहरी आम 40 रुपए किलो तक बिक रहा है। आम आदमी रसीले आम को खाने को तरस रहे हैं।

रसीलेपन के कारण दशहरी आम को आम आदमियों द्वारा विशेष पसंद किया जाता है। इसका कारण दशहरी आम का लोगों की जेब की पहुंच में रहना भी है। वैसे तो बागपत जिले का रटौल आम विश्वविख्यात है। मगर वह अपनी महंगी कीमत के कारण आम लोगों की पहुंच में आ ही नहीं पाता। लेकिन इस साल बेमौसम चली आंधी ने दशहरी आम को खासा नुकसान पहुंचाया है।

यही कारण है कि सीजन शुरू होने के बाद भी दशहरी आम के दाम ऊंचे होते ज रहे हैं। आम व्यापारी राजपाल का कहना है कि मौसम का रुख बिगड़ने से मंडियों में आम की आवक कम रही है। जिससे हर साल कम रहने वाले दशहरी आम के दाम ऊपर चढ़ते जा रहे हैं। मंडी में आम का दाम 40 रुपए किलो तक बिक रहा है। स्थानीय दशहरी आम भी महंगे दाम पर बिक रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दशहरी आम लोगों की पहुंच से बाहर