class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शीला ने कॉलेजों में कैपीटेशन फीस के मामले को नकारा

मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने कहा है कि दिल्ली के निजी कालेजों में प्रबंधन सीट पर मोटी रकम लेकर प्रवेश देने का अब तक कोई मामला सामने नहीं आया है। विधानसभा में प्रश्नकाल के दौरान उन्होंने जवाब देते हुए कहा कि यदि ऐसा कोई मामला सामने आता है, तो सरकार उसकी जांच कराकर कार्रवाई करने से पीछे नहीं हटेगी।

मुख्यमंत्री ने संबंधित विषय पर सदस्यों द्वारा पूछे गए अन्य सवालों का जवाब देते हुए कहा कि मास्टर प्लान 2021 के प्रावधानों के मुताबिक प्रति पांच लाख जनसंख्या पर एक कॉलेज होना चाहिए। इस प्रकार दिल्ली की जरूरतों के लिए 38 कॉलेज होने चाहिए। उन्होंने कहा कि राजधानी में सभी प्रांतों से छात्र आते हैं, फिर भी यहां की जरुरतों के लिहाज से पर्याप्त मात्रा में कालेज हैं।

उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार ने देश भर में नई यूनीवर्सिटी खोलने की योजना तैयार की है। इसके बन जाने पर समस्या हल हो जाएगी। दीक्षित ने कहा कि दिल्ली विश्वविद्यालय के अन्तर्गत नया कालेज नहीं खोला जा सकता। इसलिए सरकार ने गुरुगोविन्द सिंह विश्वविद्यालय के तहत दिल्ली में 64 और एनसीआर के 6 कालेजों को जोड़ा है। इसके अलावा भीमराव अम्बेडकर यूनीवर्सिटी, लॉ कॉलेज और ट्रिपिल आईटी कॉलेज खोले गए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:शीला ने कॉलेजों में कैपीटेशन फीस के मामले को नकारा