class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

छठे वेतन को लेकर निकाय कर्मचारियों का आंदोलन तेज

छठे वेतन आयोग की सिफारिशों को निकायों में लागू करने समेत अनेक मांगों को लेकर चल रहा निकाय कर्मचारियों का आंदोलन तेज हो गया है। आज निकाय कर्मचारियों ने राज्य सरकार पर आंदोलन की अनदेखी का आरोप लगाते हुए नगर में खंडूरी सरकार के पुतले की शव यात्रा निकाली। इस दौरान पुतला फूंकने को लेकर उनकी पुलिस के साथ तीखी नोंक झोंक भी हुई।


उत्तराखंड निकाय कर्मचारी महासंघ के बैनर तले बुधवार को दजर्नों कर्मचारी पालिका कार्यालय के समक्ष एकत्रित हुए इस दौरान हुई सभा में बाल्मीकि सभा के सरपंच वीर बसंत लाल बाल्मीकि ने कहा कि राज्य सरकार ने कुछ स्वार्थी नेताओं के साथ वार्ता कर पूरे वाल्मीकि समाज व कर्मचारियों को गुमराह किया है। उन्होंने दोहरे आचरण वाले नेताओं के बहिष्कार की अपील की। इस दौरान वक्ताओं ने कहा कि सरकार जितना चाहे आंदोलन का दमन करने की कोशिश कर ले लेकिन कर्मचारी अपनी मांगों से पीछे नहीं हटेंगे। इससे पूर्व उत्तरांचल प्रदेशीय सफाई मजदूर संघ के जिला प्रभारी मदन लाल व निकाय कर्मचारी संघ के शाखा अध्यक्ष रितेश बेलवाल व नरेंद्र परमार के नेतृत्व में नगर में खंडूरी सरकार के पुतले की शवयात्रा निकाली। इस दौरान पुतला दहन करने को लेकर उनकी व पुलिस कर्मियों की छीना झपटी भी हुई।

पुलिस ने आंदोलनकारियों से पुतला छीन लिया जिससे कर्मचारियों में खासा रोष व्याप्त है। वहीं कर्मचारियों ने उत्पीड़नात्मक कार्रवाई से विचलित हुए बिना आंदोलन को जारी रखने का ऐलान किया है। इस मौके पर चालक संघ के जयमल भारती, अनिल भारती, रवि चण्डालिया, जय प्रकाश, राजीव जोशी, धनसिंह, बच्ची सिंह, योगेश कर्नाटक, श्याम सिंह, सफाई मजदूर संघ के प्रदेश महामंत्री रमेश भइया, भूपाल सिंह, रामू भारती, मदन लाल, माया देवी, मुकेश मसीह, राजेंद्र, गणोश सिंह, गिरीश पाण्डे, गणोश दत्त, गिरीश भट्ट राजीव जोशी, त्रिलोचन बेलवाल आदि मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:छठे वेतन को लेकर निकाय कर्मचारियों का आंदोलन तेज