class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भाजपा में संकट गहराया, कोश्यरी का इस्तीफा

उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री व भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता भगत सिंह कोश्यारी ने बुधवार को राज्यसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया। कोश्यारी लंबे समय से राज्य के मुख्यमंत्री भुवनचंद्र खंडूरी को हटाने को लेकर उनके खिलाफ मोर्चा खोले हुए हैं। समझा जाता है कि खंडूरी को न हटाए जाने से नाराज होकर कोश्यारी ने अपना इस्तीफा दिया है।

कोश्यारी ने संवाददाताओं से बातचीत में कहा, ‘‘जिस पार्टी ने मुझ जैसे व्यक्ति को विधायक से नेता प्रतिपक्ष और प्रदेश भाजपा अध्यक्ष से मुख्यमंत्री तक बनाया, उस पार्टी को 2012 के विधानसभा चुनाव में फिर से सत्ता में लाने के लिए मैंने राज्यसभा से इस्तीफा दिया है।’’ कोश्यारी पिछले साल नवंबर महीने में राज्यसभा के लिए निर्वाचित हुए थे।

उन्होंने कहा, ‘‘राज्यसभा में रहने की वजह से मुझे प्रदेश में संगठन के कामों के लिए समय नहीं मिल पाता था। अब मैं प्रदेश में संगठन के लिए काम करना चाहता हूं।’’

उल्लेखनीय है कि लोकसभा चुनाव में उत्तराखंड में पार्टी का पूरी तरह सफाया हो गया था। राज्य की पांच में से वह एक भी सीट नहीं जीत पाई थी। पार्टी की इस करारी शिकस्त के मद्देनजर खंडूरी ने पिछले दिनों मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने की पेशकश की थी। पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व ने हालांकि उनका इस्तीफा स्वीकार नहीं किया।

इसी बीच कोश्यारी के नेतृत्व में विधायकों के एक गुट ने खंडूरी को हटाए जाने के लिए केंद्रीय नेतृत्व पर दबाव बनाना जारी रखा। खुद कोश्यिारी पिछले चार दिनों से दिल्ली में डेरा जमाए हुए हैं लेकिन केंद्रीय नेतृत्व की ओर से इस दिशा में जब कोई कदम नहीं उठाया गया तो उन्होंने राज्यसभा से इस्तीफा देना ही बेहतर समझा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भाजपा में संकट गहराया, कोश्यरी का इस्तीफा