class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अमेरिका ने मनमोहन-जरदारी मुलाकात का स्वागत किया

अमेरिका ने मनमोहन-जरदारी मुलाकात का स्वागत किया

अमेरिका के ओबामा प्रशासन ने प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और पाकिस्तान के राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी की मुलाकात का स्वागत किया है, लेकिन उनकी बातचीत की गति उसके स्वरूप और संभावनाएं तय करने का जिम्मा दोनों नेताओ पर छोड़ दिया है।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता इयान केली ने मंगलवार को कहा कि मुंबई के नवंबर के हमलों के बाद दोनों नेताओं के शीर्ष स्तर की बातचीत उत्साहवर्धक है। हम पहले भी कह चुके हैं कि भारत-पाकिस्तान को आतंकवाद से निपटने और क्षेत्रीय स्थिरता का संयुक्त समाधान खोजने के लिए बातचीत जारी रखनी चाहिए।

रूस के एकातेरिन्बर्ग में क्षेत्रीय सम्मेलन के दौरान डॉ. सिंह और जरदारी की मुलाकात का जिक्र करते हुए प्रवक्ता ने कहा कि अमेरिका ने भारत और पाकिस्तान के बीच बेहतर संबंधों और बातचीत का हमेशा स्वागत किया है। केली ने कहा कि बातचीत कब और कहां और किस तरह की होनी है, इसका फैसला उन्हे ही करना है।

विदेश सचिव शिवशंकर ने कथित रूप से कहा कि मनमोहन जरदारी की मुलाकात बातचीत की बहाली नहीं है तथा पाकिस्तान को पहले यह साबित करना होगा कि वह भारत में हो रहे आतंकवादी हमलों के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई कर रहा है। मेनन की इस टिप्पणी की ओर ध्यान आकर्षित करने पर प्रवक्ता ने कहा कि मैं चाहूंगा कि इस पर इन दोनों देशों के प्रवक्ता ही टिप्पणी करें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अमेरिका ने मनमोहन-जरदारी मुलाकात का स्वागत किया