class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

थकान खराब प्रदर्शन का कारण नहीं: धोनी

थकान खराब प्रदर्शन का कारण नहीं: धोनी

टी-20 विश्व कप से बाहर होने के कारणों को लेकर भारतीय शिविर में मतभेद बरकरार है और कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने जोर देते हुए कहा कि थकान इस खराब प्रदर्शन का कारण नहीं थी। जबकि कोच कर्स्टन इसका कारण थकान को मानते हैं।

कोच गैरी कर्स्टन ने ज्यादा क्रिकेट और इंडियन प्रीमियर लीग को टी-20 विश्व कप से बाहर होने का दोषी ठहराया, लेकिन धोनी आईपीएल मुद्दे पर कोच से अलग राय रखते हैं। हालांकि उन्होंने स्वीकार किया कि उनके कुछ खिलाड़ी शत प्रतिशत फिट नहीं थे ।

कर्स्टन ने मंगलवार को कहा था कि हमारे भीतर उतनी ऊर्जा नहीं थी, जितनी न्यूजीलैंड में थी। जब हम यहां पहुंचे तो हम थके हुए थे। हम जनवरी से लगातार दौरे पर थे। हमारे कई क्रिकेटरों को टूर्नामेंट के दौरान चोट लगी। आईपीएल में लगी चोट के कारण वे क्रिकेट से कट गए। लेकिन धोनी ने बिल्कुल उलटा पक्ष रखते हुए कहा कि टीम के इस तरह से बाहर होने का थकान से कुछ लेना-देना नहीं है ।

उन्होंने दक्षिण अफ्रीका के हाथों 12 रन की शिकस्त के बाद कहा कि निश्चित रूप से कुछ खिलाड़ी ही शत-प्रतिशत फिट थे। कुछ के टखने और कुछेक को कंधे में चोट थी। इसलिये वे मैदान पर अपना सर्वश्रेष्ठ नहीं दे सके। लेकिन मैं निश्चित नहीं हूं कि इसका कारण थकान थी। अब आपके पास रिहैबिलिटेशन कार्यक्रम है, जिससे आप जल्द ही शत प्रतिशत फिटनेस हासिल कर सकते हो।

धोनी ने कहा कि मुझे नहीं लगता कि मैं थका हुआ था। आपको 20 ओवर खेलते होते हैं तो क्या आप इतना नहीं खेल सकते। यह श्रीलंका दौरे जैसा नहीं था, जहां पर मुझे लगा था कि मुझे ब्रेक की जरूरत है, इसलिये मैं नहीं खेला था। ऐसा तब हुआ था, जब मैं थका हुआ था। यहां पर मैं इसके थकान के करीब भी नहीं था।

उन्होंने कहा कि उनकी टीम खेल के सभी विभागों में एक इकाई के रूप में क्लिक होने में असफल रही, हालांकि उन्होंने बल्लेबाजी में मिली असफलता को सबसे निराशाजनक करार दिया। उन्होंने कहा कि हमने एक टीम की तरफ प्रदर्शन नहीं किया। हम करीब 80 प्रतिशत तक एकजुट प्रदर्शन करने के आदी हैं। यहां यह 60 प्रतिशत भी नहीं हो सका।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:थकान खराब प्रदर्शन का कारण नहीं: धोनी