class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ऊर्जा क्षेत्र को मजबूत करेगा नॉर्वे

ऊर्जा क्षेत्र को मजबूत करेगा नॉर्वे

नॉर्वे ने भारत के पूर्वोत्तर राज्यों के ऊर्जा मंत्रियों को आश्वस्त किया है कि वह इन इलाकों में ऊर्जा की निर्बाध आपूर्ति एवं वितरण सुनिश्चित करने के लिए तकनीकी सहायता प्रदान करेगा।

त्रिपुरा के ऊर्जा मंत्री माणिक डे ने संवाददाताओं को बताया कि ऊर्जा मंत्रियों ने पिछले हफ्ते नॉर्वे के बड़े शहरों में स्थित ऊर्जा परियोजनाओं का दौरा किया और वहां के पेट्रोलियम एवं ऊर्जा उपमंत्री रॉबिन मार्टिन कॉस से मुलाकात की। उन्होंने बताया कि श्री कॉस ने पूर्वोत्तर में उपलब्ध संसाधनों की प्रशंसा करते हुए क्षेत्र की पूरी क्षमता का दोहन करने के लिए पर्याप्त सहायता देने का आश्वासन दिया है। उन्होंने उपभोक्ताओं को ऊर्जा की बचत करने वाले आदतें विकसित करने की सलाह दी ताकि भारत ऊर्जा क्षेत्र में लंबे समय तक टिका रह सके।

श्री डे ने बताया कि नॉर्वे के ऊर्जा मंत्री ने दल को आपूर्ति और वितरण के दौरान होने वाली ऊर्जा क्षति को कम करने की भी सलाह दी जो फिलहाल करीब 40 फीसदी है। श्री कॉस ने बिजली की आपूर्ति और वितरण से संबंधित दिशानिर्देश जारी करने का कानून बनाए जाने एवं इसे लागू करने और ऊर्जा उत्पादन करने वाली कंपनियों के बीच प्रतिस्पर्धा पैदा करने पर जोर दिया।

असम के ऊर्जा मंत्री प्रद्योत बोरदोआली के नेतृत्व में पूर्वोत्तर क्षेत्र के सात ऊर्जा मंत्रियों का दल पिछले सप्ताह नॉर्वे के दौरे पर गया था जहां उन्होंने मांग के अनुरूप बिजली के वितरण के लिए विकसित की गई प्रणाली और पॉवर स्टाक एक्सचेंज मेकैनिज्म के बारे में जानकारी ली। श्री डे ने बताया कि त्रिपुरा दिन के दौरान नई दिल्ली स्थित भारतीय ऊर्जा विनिमय और ऊर्जा विपणन कंपनी के जरिए अतिरिक्त ऊर्जा बेच रहा है। इसके साथ ही कारोबार के विस्तार की कोशिश भी की जा रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ऊर्जा क्षेत्र को मजबूत करेगा नॉर्वे