class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यूपी: डकैतों से मुठभेड़, दो पुलिसकर्मी शहीद

यूपी: डकैतों से मुठभेड़, दो पुलिसकर्मी शहीद

उत्तर प्रदेश में चित्रकूट जिले के राजापुर क्षेत्र में इनामी डकैत घनश्याम केवट गिरोह से करीब 24 घंटे से चल रही मुठभेड़ में दो पुलिसकर्मी शहीद हो गए, जबकि तीन गंभीर रूप से घायल हो गए हैं।

घायलों में एक स्पेशल ऑपरेशन गु्रप (एसओजी) के निरीक्षक नवेन्दुसिंह के हाथ में लगी गोली से उनकी हालत गंभीर है। उन्हें आनन-फानन में हेलीकॉप्टर से इलाज के लिए इलाहाबाद भेजा गया है।

राज्य के अपर पुलिस महानिदेशक (कानूनव्यवस्था) बृजलाल ने बताया कि सोरवल गांव में डकैतों के छिपे होने की सूचना पर पुलिस ने मंगलवार को गांव को घेर लिया। पुलिस गांव वालों को घर में रहने की हिदायत दे ही रही थी कि डकैतों ने पुलिस पर अंधाधुंध गोली चलानी शुरू कर दी, जिससे (एसओजी) के सिपाही शमीम की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि राजेन्द्र प्रसाद सिंह और दिलीप तिवारी घायल हो गऐ।

रात होने की वजह से घेराबंदी तो की गई थी, लेकिन फायरिंग रोक दी गई थी। बुधवार सुबह पुलिस ने उस घर पर फिर से धावा बोला जिसमें डकैत छिपे हुए थे। धावा बोलते ही डकैतों ने अंधाधुध गोलियां चलानी शुरू कर दी, जिससे पीएसी के कंपनी कंमाडर बेनी माधव सिंह की मृत्यु हो गई और एसओजी के निरीक्षक नवेन्दुसिंह गंभीर रूप से घायल हो गए।

बृजलाल ने बताया कि अत्याधुनिक रायफल और ग्रेनेड से लैस डकैतों ने घर के अंदर पोजीशन ले रखी है। चित्रकूट के पुलिस उपमहानिरीक्षक सुशील कुमार सिंह भी मौके पर मौजूद हैं। उत्तर प्रदेश के बुन्देलखंड और मध्यप्रदेश के सीमावर्ती जिलों में आतंक मचाने वाले घनश्याम केवट पर 50 हजार रूपये का ईनाम घोषित है।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:यूपी: डकैतों से मुठभेड़, दो पुलिसकर्मी शहीद