class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वर्ल्ड कप के मेजबान देशों की आईसीसी के साथ बैठक

वर्ल्ड कप के मेजबान देशों की आईसीसी के साथ बैठक

वर्ष 2011 में होने वाले आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप के मेजबान देशों भारत, पाकिस्तान, बंग्लादेश और श्रीलंका के प्रतिनिधियों की आईसीसी के अध्यक्ष डेविड मोर्गन और मुख्य कार्यकारी हारुन लोगार्ट के बीच लार्डस में एक बैठक हुई है।

सोमवार को शुरू हुई बैठक में वर्ल्ड कप के दौरान मैचों के आयोजन स्थल के सिलसिले में पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) से जुडे़ मसले पर हालांकि कोई अंतिम निर्णय नहीं लिया जा सका लेकिन इस मुद्दे पर विचार विमर्श अभी जारी है और 19 जून को आईसीसी के उपाध्यक्ष शरद पवार और पीसीबी के अध्यक्ष एजाज बट्ट के साथ मोर्गन की मुलाकात तक यह बैठक चलेगी।

मोर्गन ने कहा कि इस मसले का समाधान ढूंढने के लिए आपसी सहयोग की भावना से हम यहां इकट्ठे हुए हैं, इस बात की मुझे खुशी है। हमारी बातचीत काफी रचनात्मक रही और आईसीसी उपाध्यक्ष तथा पीसीबी अध्यक्ष से मुलाकात तक यह जारी रहेगी ताकि पाकिस्तान में होने वाले मैचों के आयोजन स्थल को लेकर अंतिम फैसला किया जा सके।

उन्होंने कहा कि ऐसे वक्त में जहां हालात क्रिकेट बोर्ड के नियंत्रण से बाहर हो गए हैं, बैठक में पाकिस्तान के प्रति बेहद हमदर्दी व्यक्त की गई। आईसीसी परिवार को इस मसले का तुरंत समाधान किए जाने की जरुरत है जिससे वर्ल्ड कप की तैयारियों को गति दी जा सके क्योंकि इसके आयोजन में दो वर्षों से भी कम समय बच गया है।

मोर्गन ने कहा कि आगामी विचार विमर्श के दौरान पाकिस्तान में होने वाले मैचों के आयोजन स्थल के बारे में आईसीसी बोर्ड की सिफारिशों पर अंतिम फैसला लेने में मदद मिलेगी।

बाद में टूर्नामेंट की केंद्रीय आयोजन समिति वर्ल्ड कप के सचिवालय स्थल और इसके प्रबंधन ढांचा के बारे में फैसला करने के लिए एक बैठक करेगी। इससे पहले यह लाहौर में स्थित था।

चारों मेजबान देशों ने आईसीसी बोर्ड के पहले के फैसले पर अपनी राय जाहिर कर दी थी कि पाकिस्तान इस टूर्नामेंट का सिर्फ सह मेजबान बना रहेगा और वहां आयोजित होने वाले 14 मैचों की फीस उसे मिलेगी। इससे पहले बार्ड ने इस टूर्नामेंट के लिए मेजबान आयोजन स्थलों के अधिकार से पाकिस्तान को वंचित कर दिया था।

भारत, श्रीलंका और बंगलादेश ने कहा है कि यदि इन 14 मैचों में से कोई भी मैच यदि उनके देश में होता है तो वह मेजबानी की फीस बकाया नहीं छोडेंगे। पीसीबी इस बात पर सहमत हुआ कि आईसीसी के खिलाफ की गई कोई भी कानूनी कार्यवाही आगामी विचार विमर्श तक स्थगित कर दी गई है।

सोमवार को हुई बैठक में मोर्गन और लोर्गट के अलावा भारत की ओर से शशांक मनोहर, बांग्लादेश के महबुबुल अनाम, पाकिस्तान के एजाज बट्ट और सुभान अहमद, श्रीलंका के डीएस डी सिल्वा मौजूद थे। पवार ने टेलीफोन के जरिए इस बैठक में शिरकत की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:वर्ल्ड कप के मेजबान देशों की आईसीसी के साथ बैठक