class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

धुरंधर ढेर

जब ऑस्ट्रेलिया की टीम ट्वेंटी-ट्वेंटी विश्व कप से बाहर हो गई तब यह कहा गया कि चूंकि उसके खिलाड़ी आईपीएल में नहीं खेले थे, इसका खामियाज उन्हें भुगतना पड़ा। यहां तक कि कप्तान रिकी पॉन्टिंग तक ने यह बात मान ली। अब पूर्व चैंपियन भारत की टीम भी बाहर हो गई, जो एकमात्र टीम है जिसके सारे के सारे खिलाड़ी आईपीएल में खेले थे, तो क्या उसका दोष आईपीएल की थकान पर डाला जाए।

एकाध पूर्व खिलाड़ी ने ऐसा पहले कहा भी था लेकिन तमाम लोगों ने यही कहा कि आईपीएल के अनुभव से फायदा होगा। अब जसा कि लोकसभा चुनाव के नतीजों के बाद हुआ, कई लोग अपनी राय बदल लेंगे। हार के कारण तो अभी गिनाए जएंगे उनमें से कई सही भी होंगे लेकिन ज्यादा महत्वपूर्ण यह है कि हम भारतीयों को यह सीखना चाहिए कि जीत के बाद विजय जुलूस न निकालें और हार के बाद गगनभेदी चीख पुकार न मचाएं।

खिलाड़ी खेलते हैं तो कभी जीतते हैं और कभी हारते हैं। ऐसे में न उन्हें सिर पर बैठाना चाहिए, न ही हारने पर जमीन पर पटक देना चाहिए। यह तो कम से कम नहीं होना चाहिए कि खिलाड़ियों को हारने पर अपने और अपने परिवारजनों की सुरक्षा की चिंता होने लगे और उनके घरों पर पुलिस का पहरा बिठाना पड़े।

एक और सबक जो बीसीसीआई वालों को सीखना चाहिए, हालांकि सीखने के मामले में उनका रिकार्ड बहुत खराब है, वह यूं है कि पैसा और ग्लैमर खेल में श्रेष्ठता के विकल्प नहीं हो सकते। पैसा खेल के लिए जरूरी है और ग्लैमर भी बुरा नहीं है लेकिन लगातार Þोष्ठ प्रदर्शन के लिए इन्हें थोड़ा पीछे ही रखना ठीक होता है। बीसीसीआई माने या न माने लगातार खेलते रहने का दबाव और ताजगी की कमी इस टूर्नामेंट में दिखी। जब कोई भी विश्व कप खेलने के लिए टीम जती है तो उसके लिए विशेष तैयारी की जरूरत होती है।

पिछले विश्व कप में हम जरूर जीते थे लेकिन पिछले एक साल में दूसरी टीमों ने कुछ सीख है, रणनीति के स्तर पर बदलाव किया है और यह वेस्ट इंडीज और इंग्लैंड के हमारे खिलाफ प्रदर्शन से दिखाई दिया है। कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी का अब तक शानदार वक्त चल रहा था, भारतीय क्रिकेट प्रेमी उन्हें सिर आंखों पर बिठाए हुए थे, अब उन्होंने क्रिकेट प्रेमियों का दूसरा रूप भी देख लिया। संभव है उन्हें और दूसरे युवा खिलाड़ियों को यह थोड़ा विनम्र बनाए, शायद यह सबक ही इस विश्व कप की उपलब्धि हो।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:धुरंधर ढेर