class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राष्ट्रमंडल खेलों के लिए बुनियादी परियोजनाएं समय पर: खन्ना

दिल्ली के उपराज्यपाल तेजेन्द्र खन्ना ने कहा है कि अगले वर्ष राष्ट्रीय राजधानी में होने वाले राष्ट्रमंडल खेलों के सफल आयोजन के लिए सभी बुनियादी सुविधा परियोजनाओं को समय से पहले पूरा कर लिया जाएगा।
 खन्ना ने विधानसभा के बजट सत्र के पहले दिन आयोजन यहां अपने अभिभाषण में कहा कि राष्ट्रमंडल खेलों के दौरान शहर में बेहतर संपर्क बनाने और प्रतियोगिता स्थलों के बीच वाहन यातायात को सुगम बनाने के लिए सरकार 24 नए फ्लाई ओवर और छह ओवर ब्रिज तथा अंडर ब्रिजों का निर्माण कर रही है।

इसके अलावा दिल्ली नगर निगम पैदल यात्रियों की सुविधा के लिए 18 ओवर ब्रिज, अंडर ब्रिज बना रहा है। इन उपायों से सिग्नल लाइनों को कम किया जा सकेगा और सिग्नल की वजह से यातायात में आने वाले व्यवधान से राहत मिलेगी।


उपराज्यपाल ने कहा कि लोक निर्माण विभाग, निगम और नई दिल्ली नगर पालिका ने सड़कों को चौड़ा मजबूत और समतल बनाने तथा पथ प्रकाश को सुधारने के लिए कदम उठाए हैं। इसके तहत 150 किलोमीटर लम्बी सड़कों को चौड़ा किया जाएगा। चौदह सौ किलोमीटर लम्बी सड़कों को मजबूत और समतल 1600 किलोमीटर लम्बी लेन का पथ प्रकाश और 175 किलोमीटर में स्ट्रीट स्केपिंग किया जाएगा।


दिल्ली की सुन्दरता बढ़ाने के लिए सड़कों के किनारे और फ्लाई ओवरों के आसपास खाली स्थान को हरा भरा (वृक्षारोपण) बैठने की व्यवस्था और आधुनिक संकेतकों की व्यवस्था की जाएगी। उपराज्यपाल ने कहा कि इन सभी परियोजनाओं पर तेजी से काम चल रहा है और राष्ट्रमंडल खेलों से पहले इन्हें पूरा कर लिया जाएगा।

उपराज्यपाल खन्ना ने दिल्ली के स्वास्थ्य ढांचे में सुधार का जिक्र करते हुए कहा कि चालू वित्त वर्ष में छह ऐलोपैथिक, चार आयुर्वेदिक, पांच होम्योपैथिक और एक यूनानी औषधालय खोला जाएगा। द्वारका में 750 बिस्तरों वाले शिक्षण अस्पताल और कोकिवाला में 200 बिस्तर के अस्पताल का काम शुरु किया जा चुका है। 


उन्होंने कहा कि राष्ट्रमंडल खेलों के लिए अस्पतालों में मौजूदा सुविधाओं को उन्नत बनाने और राष्ट्रमंडल खेल गांव में 24 घंटे चिकित्सा सेवाएं प्रदान करने के लिए पालिक्लिनिक की स्थापना की जाएगी। सभी को समान चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए "दिल्ली राज्य स्वास्थ्य मिशन" शुरु किया गया है। सरकार ने नियमित टीकाकरण कार्यक्रम में हेपटाइटिस बी, टाइफाइड और एमएमआर शामिल किया है। जिससे बच्चों की मृत्यु और बीमारी पर अंकुश लगाया जा सकेगा।


उपराज्यपाल ने कहा कि पल्स पोलियो कार्यक्रम के हर वर्ष नौ दौर आयोजित किए जाते हैं और इसके परिणामस्वरुप पोलियो के मामलों में भारी कमी आई और 2008 में मात्र तीन मामले सामने आए। नागरिकों को परोक्ष धूम्रपान के दुष्प्रभावों से बचाने और तंबाकू की खपत कम करने के लिए सरकार, धूम्रपान मुक्त दिल्ली नाम की दो वर्ष की योजना शुरु करेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:राष्ट्रमंडल खेलों के लिए बुनियादी परियोजनाएं समय पर: खन्ना