class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पौष्टिक आहार प्रतियोगिता में पारम्परिक व्यंजनों का जलवा

युवा पीढ़ी को फास्ड फूड की लत छुड़ाने और पारम्परिक पहाड़ी व्यंजनों का महत्व बताने के उद्देश्य से उत्तराखंड महिला एसोसिएशन ‘उमा’ ने रविवार को पौष्टिक आहार प्रतियोगिता का आयोजन किया।  इस प्रतियोगिता में नमकीन व्यंजन में निशू शर्मा प्रथम, मंजरी दूसरे और बाला जोशी तीसरे स्थान पर वहीं मीठे व्यंजनों में अंजना वाही प्रथम, कृष्णा द्वितीय और नंदनी तीसरे स्थान पर रहीं।

रविवार को ईसी रोड स्थित होटल में उमा ने स्वैच्छिक रक्तदाता दिवस मनाया। इस मौके पर शहर की विभिन्न महिलाओं से अपने परिवार को स्वस्थ रखने के लिए पौष्टिक आहार खिलाने की बात की। कार्यक्रम की शुरुआत सरस्वती वंदना के साथ हुई।

पौष्टिक आहार प्रतियोगिता में दर्शकों ने मीठा दलिया, झंगोरे की खीर, लौकी का पुलाव, चने की दाल की बर्फी, चटपटा उपमा, चुकन्दर का हलवा, टमाटर का हलवा, अंकुरित चाट, खीरे का रायता, विक्टोरियन राइस, ब्रेड की जलेबी आदि व्यंजनों का स्वाद लिया गया।

इस अवसर पर अध्यक्ष साधना शर्मा ने कहा कि महिलाएं घर में ऐसा माहौल बनाए कि हमारे बच्चे जंक फूड को छोड़कर पारम्परिक पहाड़ी व्यंजनों का सेवन करें। उन्होंने बताया फास्ट फूड से बच्चों में उच्च रक्तचाप, मोटापा बढ़ रहा है।

महिला आयोग की अध्यक्ष राज रावत ने कहा कि पहाड़ी व्यंजन अपने आप में पौष्टिक हैं। इनसे शरीर को रोगों से लड़ने की शक्ति मिलती है। मां खुद संतुलित भोजन ले और परिवार के सभी सदस्यों को भी खिलाए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पौष्टिक आहार प्रतियोगिता में पारम्परिक व्यंजनों का जलवा