class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

छुट्टी वाले दिन पानी नहीं तो प्यासे ही रहिए

निगम ने दो दिनों पहले अखबारों में पानी की शिकायतों को लिखवाने के लिए कंट्रोल रूम के जिस टेलीफोन नंबर का प्रचार किया था वह रविवार को नहीं मिला। 12 जून को प्रशासन की ओर से जरी प्रेस नोट में कहा गया है कि जिसको भी पानी की समस्या हो वह 5009333 नंबर पर फोन कर सकता है। निगम के अफसरों ने दावा किया था कि यह नंबर सुबह 6 बजे से रात के 9 बजे तक चालू रहेगा। 


लेकिन रविवार को कई लोग इस नंबर को डायल करते रहे, लेकिन सुनने  वाला कोई नहीं था। सेक्टर 49 की रेजिडेंट वेलफेयर एसोसिएशन के अध्यक्ष व सेक्रेटरी चंडीगढ़ सोशल वेलफेयर काउंसिल सतीश चंद्र शर्मा का कहना है कि उन्होंने शाम सात बजे के बाद तीन बार फोन किया, लेकिन किसी ने फोन नहीं उठाया। उन्होंने कहा कि उनके घरों में आ रहे पानी में मिट्टी बहुत आ रही है। इसी सेक्टर के आर एस राणा का कहना है कि यदि टेलीफोन नंबर दिया गया तो फिर इसकी सुनवाई भी होना चाहिए। 

 
शर्मा का कहना है कि यदि निगम को गंभीरता ही दिखानी है तो संबंधित अधिकारी का मोबाइल नंबर दिया जाए न की लैंड लाइन नंबर। कम से कम फोन नहीं सुनने वाले अफसर की जिम्मेदारी तो तय की जा सकती है। सेक्टर 51 के एस एस भारद्वाज का कहना है कि उन्होंने पौने आठ बजे फोन किया लेकिन किसी ने नहीं उठाया।
उधर  पब्लिक हैल्थ विभाग के एसई  आर के गोयल ने कहा है कि  हफ्ते भर की डयूटी लगाई गई है। दो जेई नियुक्त किए गए हैं। रजिस्टर भी रखा गया है, जिसमें शिकायत दर्ज करने कहा गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:छुट्टी वाले दिन पानी नहीं तो प्यासे ही रहिए