class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

केमिकल के ड्रम से भरा मिनी ट्रक स्वाहा

रोडीबेल वाला पुलिस चौकी के ठीक सामने ऋषिकेश-हरिद्वार राजमार्ग पर रविवार दोपहर एक केमिकल से भरा मिनी ट्रक आग की चपेट में आकर खाक हो गया। आग लगने के दौरान चालक और एक पुलिसकर्मी मिनी ट्रक में सवार थे, जिन्होंने कूदकर अपनी जन बचाई। जैसे-तैसे पहुंची दमकल विभाग की तीन गाडि़यों ने संयुक्त रूप से आग पर काबू पाया। अग्निकांड में करीब लाखों रूपए का नुकसान होना आंका जा रहा है।


रविवार सुबह ऋषिकेश की तरफ से आ रहे एक मिनी ट्रक के पिछले हिस्से से आग की लपटे उठते देख चौकी पर तैनात पुलिसकर्मी और आस-पास फड़-ठेली लगाने वाले दुकानदारों ने हल्ला मचा दिया। मिनी ट्रक ने ट्रक को राजमार्ग के बीचो-बीच रोक लिया। उसमे सवार एक पुलिसकर्मी और चालक तुरन्त नीच उतर गए।
देखते ही देखते आग ने विकराल रूप ले लिया। आस-पास के लघु व्यापारियों ने पानी का पाइप और बाल्टियां भरकर आग बुझाने का प्रयास किया। लेकिन आग बुझने की बजाय बढ़ती चली जा रही थी।
सूचना मिलने पर सीओ सिटी नवनीत ¨सह, सीओ यातायात श्वेता चौबे तुरन्त पहुंचे। दमकल विभाग को सूचना दी। एफएसओ एसके शर्मा बमुश्किल घटनास्थल पर पहुंचे।


राजमार्ग पर यातायात का दबाव होने पर दमकल वाहन जैसे-तैसे मौके पर पहुंच सके। दमकल कर्मियों ने तीनों गाड़ियों की मदद से आग बुझनी शुरु की। करीब आधा घंटे चली मशक्कत के बाद मिनी ट्रक पर काबू पाया जा सका। लेकिन तब तक मिनी ट्रक और उसमें रखे केमिकल के आठ ड्रम नहीं बचे थे। आग कैसे लगी, यह साफ नहीं हो सका था। राजस्थान के गंगापुरी के रहने वाले मिनी ट्रक चालक बलवंत सिंह यादव ने बताया कि गुंडगांव हरियाणा के असम बंगाल कैरियर्स ट्रांसपोर्ट से केमिकल के ड्रम लेकर चला था। दून के सेलाकुई औद्योगिक क्षेत्र में केमिकल के ड्रम उतारकर हरिद्वार आ रहा था। यहां दो अलग फैक्ट्रियों में आठ ड्रम की डिलीवरी देनी थी। एफएसओ एसके शर्मा कहते है कि केमिकल और ट्रक को मिलाकर देखे तो नुकसान लाखों रूपए का है। लेकिन आग लगने का क्या कारण रहा होगा, इस दिशा में जांच कराई जा रही हैं।

पुलिस को पड़ा जूझना
एक तो रविवार का दिन और ऊपर से राजमार्ग के बीचो-बीच एक मिनी ट्रक में आग लग जाने से पुलिस की मुसीबत बढ़ गई। एहतियात बरतते हुए चण्डीघाट और वीआईपी घाट पर यातयात को रोक दिया गया। दोनों तरफ वाहनों की लम्बी-लम्बी कतारे लग गई। करीब आघा पौना घंटा तक चली कार्रवाई में छोटे-बडे वाहनों की संख्या में एक साथ कई गुना इजाफा हो गया था। पुलिस महकमे ने स्थिति को भांपते हुए दोनों तरफ की स्थायी-अस्थायी पार्किगों में वाहनों को खड़ा करवाना शुरु कर दिया था। आग बुझने के बाद मिनी ट्रक को क्रेन की मदद से सड़क किनारे खडा करवाया गया। इसके बाद धीरे-धीरे यातायात छोड़ा गया लेकिन पुलिस अफसरों को फिर जाम से जूझना पड़ा।

 

मंजर देखने उमड़ी भीड़
ऐसा मंजर अक्सर टीवी पर ही दिखता है। लेकिन स्थानीय और देश के विभिन्न कोनों से पहुंचे यात्री भी इसके गवाह बने। जब मिनी ट्रक ने आग पकड़ना शुरु की, तब आगे-पीछे कई छोटे-बडे़ वाहन थे। किसी ने वाहन दौड़ा लिया तो किसी ने सड़क किनारे सुरक्षित स्थान पर जगह ली। पुलिस ने फटाफटा बेरिकेटिंग लगा दिए। रस्सा डालकर राजमार्ग दोनों तरफ से जाम कर दिया। लेकिन मंजर देखने के लिए यात्रियों-स्थानीय नागरिकों का हुजुम उमड़ पड़ा। आग की भयंकर लपटें उठ रही थी। उत्तरी हरिद्वार तक के लोग आग की लपटे देखने मौके पर पहुंचे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:केमिकल के ड्रम से भरा मिनी ट्रक स्वाहा