class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आखिर कहां गई नेहरु की तार वाली फाइल

देश के अतिमहत्वपूर्ण विवादों में से एक अयोध्या के सम्बंध में अदालत के कड़े रुख के बाद अब उत्तर प्रदेश का गृह विभाग प्रथम प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरु की तार वाली फाइल खोजने में जुट गया है। अदालत ने 23 दिसम्बर 1949 को विवादित ढांचे में मूर्ति रखे जाने के बाद देश के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरु और तत्कालीन मुख्यमंत्री गोविन्द बल्लभ पन्त के बीच हुए पत्राचार की फाइल मांगी है।

फाइल में नेहरु के पंत को भेजे गए तार के साथ ही फैजाबाद के तत्कालीन जिलाधिकारी के.के. नैयर और मंडलायुक्त के पत्र भी बताए जा रहे हैं। सूत्रों की मानें तो उस फाइल में नेहरु के तार के अलावा राज्य सरकार के चार तथा जिलाधिकारी और मंडलायुक्त के दो पत्र हैं। इस बारे में गृह विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कि बताया कि अदालत के आदेश के बाद फाइल की खोज जारी है। अदालत ने सरकार से उस फाइल को यथाशीघ्र उपलब्ध कराने का आदेश दिया था। अयोध्या में विवादित राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद का मुकदमा इलाहाबाद उच्च न्यायालय की लखनऊ खण्डपीठ में चल रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आखिर कहां गई नेहरु की तार वाली फाइल