class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विश्वेश्वरगंज मंडी में स्वास्थ्य विभाग का छापा

विश्वेश्वरगंज मंडी में शुक्रवार को खाद्य तेल व घी व्यापारियों के यहां नमूना लेने पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम पर हमला कर दिया गया। एक फूड इंस्पेक्टर की पिटाई कर उससे कागजत छीने और सरकारी वाहन क्षतिग्रस्त कर दिया। जबरदस्त विरोध के कारण टीम सिर्फ एक व्यापारी के दुकान से ही नमूना ले सकी। इस दौरान मंडी की अधिकांश दुकानें बंद हो गयी। घटना के बाबत स्वास्थ्य विभाग व व्यापारी वर्ग ने एक-दूसरे के खिलाफ कोतवाली में तहरीर दी है। दूसरी ओर जांच दल की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाते हुए व्यापारी वर्ग ने गहरा रोष जताया है।


सीएमओ डॉ. आरएस वर्मा की ओर से गठित जांच टीम पूर्वा में विश्वेश्वरगंज मंडी पहुंची। जिसमें एडीशनल सीएमओ डॉ. आरपी तिवारी तथा डॉ. एलसी यादव, डिप्टी सीएमओ डॉ. सीएस कनौजिया व पल्स पोलियो कार्यक्रम के नोडल अधिकारी डॉ. ज्ञानप्रकाश समेत कई फूड इंस्पेक्टर शामिल थे। टीम की गाड़ियां ज्यों ही मंडी तिराहे पर पहुंचीं, आसपास स्थित खाद्य तेल-घी के कारोबारियों ने धड़ाधड़ दुकानें बंद करनी शुरू कर दीं। निकट ही दुकान सेठ स्टोर्स को खुला देख अफसर वहां पहुंचे और दो कंपनियों के खाद्य तेल व घी का सैंपल लेना शुरू किया। उसी समय कुछ लोगों ने वहां पहुंचकर फूड इंस्पेक्टर एके सिंह को दुकान से बाहर खींचकर हाथ से शीशी-बोतल व कुछ कागजत छीनते हुए पिटाई शुरू कर दी।

अचानक हुए हमले पर टीम के सदस्य भौंचक रह गये। मौके पर निष्क्रिय वॉकी-टॉकी लेकर खड़े एक कांस्टेबल ने मोबाइल फोन से कोतवाली को घटना की सूचना दी। वहीं डॉ. तिवारी ने डीएम को मामले की जानकारी देते हुए फोर्स मांगी। कुछ ही मिनटों में और पुलिस फोर्स पहुंची। उग्र भीड़ की धक्का-मुक्की के बीच लोगों ने स्वास्थ्य विभाग की टाटा सूमो को क्षतिग्रस्त कर दिया। भारी दबाव के बावजूद उस दुकान से टीम ने दो कंपनियों के खाद्य तेल व घी के नमूने लिए। 

वहीं काशी व्यापार प्रतिनिधि मंडल महामंत्री राकेश जैन, काशी खाद्य व्यापार मंडल के अध्यक्ष अनिल कपूर, विश्वेश्वरगंज व्यापार मंडल के अध्यक्ष संजय जायसवाल, महामंत्री अशोक गुप्ता, भगवान दास जायसवाल, मुकेश जायसवाल आदि ने आरोप लगाया कि व्यापार मंडल को विश्वास में लिए बगैर जांच टीम मनमाने ढंग से सैंपल ले रही है। जबकि इस प्रकार के अभियान में व्यापार मंडल के पदाधिकारियों को भी साथ रखना चाहिए।

कार्रवाई के लिए मांगेंगे पुलिस फोर्स
शासन के निर्देश पर शुक्रवार को विश्वेश्वरगंज मंडी में छापेमारी की कार्रवाई हुई। गुरुवार की रात इस बारे में मंडलायुक्त सुरेशचंद्रा को शासन से फैक्स संदेश मिला था। तुरंत बाद उन्होंने डीएम एके उपाध्याय तथा सीएमओ आरएस वर्मा को बुलाकर गोपनीयता बरतते हुए शुक्रवार से छापेमारी शुरू करने को कहा। निर्देश दिए गए कि कार्रवाई से पहले सूचना लीक न हो। इसके लिए टीम के साथ जाने वाले अन्य किसी भी सदस्य को पहले से कोई जानकारी न दी जाय। इधर, शनिवार को हुई कार्रवाई के दौरान पुलिस बल साथ न होने के कारण स्वास्थ्य विभाग को काफी फजीहत झेलनी पड़ी। बताते हैं कि 15 जून को प्रस्तावित डीएम की बैठक में महकमे के अफसर छापेमारी के दौरान आने वाली कठिनाइयों की जानकारी देते हुए पुलिस फोर्स की मांग करेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:विश्वेश्वरगंज मंडी में स्वास्थ्य विभाग का छापा