class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सरकार का टेक्सटाइल उद्योग से एक करोड़ रोजगार सृजित करने का लक्ष्य

सरकार का टेक्सटाइल उद्योग से एक करोड़ रोजगार सृजित करने का लक्ष्य

सरकार टेक्सटाइल उद्योग की हालत को संभालने के लिए नये प्रोत्साहन उपायों की तैयारी कर रही है। इस मामले में वित्तीय एवं प्रशासनिक उपाय शामिल होंगे। इसके अलावा सरकार राष्ट्रीय फाइबर नीति भी घोषित करेगी। इस बारे में उद्योग से सलाह मशविरा जल्द शुरू होगा।

इन उपायों के जरिए सरकार ने सिर्फ टेक्सटाइल उद्योग के जरिए एक करोड़ रोजगार सृजित करने का लक्ष्य निर्धारित किया है। टेक्सटाइल उद्योग पर इकरा की ओर से तैयार अध्ययन रिपोर्ट जारी करते हुये कपड़ा मंत्री दयानिधि मारन ने कहा कि सरकार टेक्सटाइल उद्योग को नये प्रोत्साहन देते हुये उसकी हालत को ठीक करेगी और कम से कम एक करोड़ नये रोजगार सृजित करने का प्रयास करेगी।

11वीं पंचवर्षीय योजना के दौरान टेक्सटाइल उद्योग को मजबूत करने की व्यापक रूपरेखा है। अब इसे आगे बढ़ाने के लिए तकनीकी उन्नयन कोष (टीयूएफ) योजना के जरिए और धन उद्योग को मुहैया किया जएगा ताकि तकनीकी उन्नयन संभव हो सके।

उन्होंने कहा कि विकसित देशों के बाजरों की खराब हालत के दौर में भारत को नये बाजरों में निर्यात संभावनाओं की तलाश करनी चाहिये। इसके साथ ही टेक्सटाइल पार्क स्कीम के जरिए भी रोजगार बढ़ाने के उपाय किये जाएंगे।

इकरा की यह रिपोर्ट कनफेडरेशन ऑफ इंडियन टेक्सटाइल इंडस्ट्री (सीटी), कॉटन टेक्सटाइल एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल, अपैरेल एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल और रेयॉन टेक्सटाइल्स एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल की ओर से तैयार कराई गई है।

मारन ने कहा कि इनमें टैक्स ढांचे को ठीक करने, सर्विस टैक्स से रियायत, निर्यात पूर्व और बाद पूंजी के लिए ब्याज दरों में छूट की व्यवस्था की जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:टेक्सटाइल में 1 करोड़ नौकरियों का लक्ष्य