class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फर्जी हस्ताक्षर व मुहर की बदौलत 22 हजार 8 सौ का बैंक ने कर दिया भुगतान

राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना (नरेगा) के चेक बही से बड़ागांव ग्राम पंचायत के रोजगार सेवक विष्णुकांत सोनू ने फर्जी तरीके से 22 हजर 8 सौ रुपये का गबन किया है। आफिस से नरेगा की सादा चेक उड़ाकर, फर्जी दस्तखत बनाकर बैंक से रुपया भुना लिया।

खुलासा तब हुआ जब सेक्रेटरी बैंक खाता का मिलना करने यूनियन बैंक की बड़ागांव शाखा पहुंचा। चेक पर लिखे गये नाम से राइटिंग की पहचान की गयी और फिर रोजगार सेवक पर शिकंज कसा। क्षेत्र में बैंक की ओर से किये गये भुगतान को लेकर भी तरह-तरह चर्चा है।

जानकारी के अनुसार नरेगा का निर्गमन रजिस्टर सेक्रेटरी चेक कर रहा था, वहीं चेक बही रखा था। सेक्रेटरी आवश्यक कार्यवश कार्यालय से बाहर निकला इसी बीच रोजगार सेवक विष्णुकांत ने चेक बही से दो सादे चेक एक शुरूआत के और एक अंत के फाड़ लिये।

इसके बाद विष्णु ने 8 मई 2009 की तारीख में नरेगा के चेक संख्या 87697 पर 10 हजार रुपये की राशि बैंक से भुगतान कर ली। विष्णु ने चेक पर बाकायदे सेक्रेटरी ओम प्रकाश का और ग्राम प्रधान घनश्याम गुप्ता का फर्जी हस्ताक्षर बनाकर, आफिस से मुहर लगाकर बैंक से भुगतान ले लिया। एक सप्ताह भी नहीं बीता था, विष्णु की लालच बढ़ी और उसने पुन: चोरी किये गये दूसरे चेक संख्या 87638 पर 14 मई की तारीख में 12800 रुपये का भुगतान बैंक से ले लिया।

फर्जीवाड़े का खुलासा तब हुआ जब सेक्रेटरी ओम प्रकाश गुरुवार को बैंक खाते का मिलान करने बैंक पहुंचा। बैंक ने बताया कि राजेश कुमार के नाम से 10 हजार तथा वैभव कुमार के नाम से 12800 का भुगतान किया गया है। ओम प्रकाश ने ऐसे किसी व्यक्ति को चेक देने से इंकार किया तो बैंक में भी हलचल मच गयी।

आनन-फानन में भुगतान किये गये चेक को निकाला गया। ओम प्रकाश ने चेक पर किये हस्ताक्षर को फर्जी बताया। इसके बाद ग्राम प्रधान ने भी अपने हस्ताक्षर को फर्जी करार दिया। ओम प्रकाश को हस्ताक्षर देखने के बाद शक हुआ तो वह ग्राम प्रधान के साथ सीधे विष्णुकांत के घर गये।

आरंभ ने विष्णु ने इंकार किया लेकिन दबाव के बाद धनराशि वापस करने पर राजी हो गया। इसके बाद ओम प्रकाश ने जालासाजी और धोखाधड़ी की तहरीर थाना पर दर्ज करायी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रोजगार सेवक ने नरेगा का चेक उड़ाया, भुनाये हजारों रुपये