class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दिल्ली पुलिस को है तीन महाठगों की

स्टाम्प पेपर घोटाले में भले ही तेलगी को सात साल की सजा हो गई हो,लेकिन धोखाधड़ी में शामिल कई तेलगी दिल्ली पुलिस के लिए सिरदर्द बन हुए हैं। आर्थिक अपराध शाखा एक-एक हजार करोड़ रुपये के घोटाले में फिलहाल तीन बड़े महाठगों की तलाश में जुटी हुई है।

करोड़ों रुपये की धोखाधड़ी के बाद पहले अशोक जडेजा सुर्खियों में आया। उसने सैकड़ों लोगों से एक हजार रुपये से अधिक की धोखाधड़ी। यह मामला अभी ठंडा भी नहीं हुआ था कि राजधानी के अमन विहार इलाके में सुभाष अग्रवाल ने लोगों के एक हजार करोड़ रुपये की धोखाधड़ी की और रातों रात फरार हो गया। धोखाधड़ी के शिकार हुए गुस्साए लोगों ने सुभाष अग्रवाल के आफिस पर तोड़फोड़ की। कई दिनों से यह मामला मीडिया की सुखिर्यो में बना हुआ है। तिलक नगर में बीके ज्वलर्स ने अपनी एक कंपनी बनाई जिसमें हजारों लोगों को धोखाधड़ी का शिकार बनाया। लोगों का आरोप है कि ज्वैलर्स ने एक हजार करोड़ रुपये की धोखाधड़ी की और रातों रात भूमिगत हो गए। हालांकि इस मामले की एफआईआर दो माह पहले आर्थिक अपराध शाखा दर्ज कर चुकी है। लेकिन लगातार सामने आ रहे धोखाधड़ी के मामलों के बाद यह मामला भी इन दिनों मीडिया की सुर्खी बना हुआ है। मामला दर्ज होने के बाद से ज्वैलर्स राजेश मलिक,चेतन मलिक तथा एक अन्य फरार है।

आर्थिक अपराध शाखा के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि इन दिनों बड़ी धोखाधड़ी के मामले की तफ्तीश की जा रही है। उन्होंने सुभाष अग्रवाल की गिरफ्तारी की बात से इंकार करते हुए कहा कि महाठगों की तलाश में एक दजर्न टीम जुटी हुई है लेकिन कोई ठोस सुराग नहीं मिला है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दिल्ली पुलिस को है तीन महाठगों की