class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्वाइन फ्लू से दहशत में आने की जरूरत नहीं: आजाद

स्वाइन फ्लू से दहशत में आने की जरूरत नहीं: आजाद

विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा स्वाइन फ्लू को  महामारी  घोषित किये जाने के एक दिन बाद सरकार ने देशवासियों से कहा कि इस संक्रमण से  दहशत  में आने की जरूरत नहीं है और उसने इस बीमारी का प्रसार रोकने के लिए कमर कस ली है । 

केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री गुलाम नबी आजाद ने कहा कि किसी को घबराने की जरूरत नहीं है। सरकार स्थिति से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार है। दवाइयों की कोई कमी नहीं है और स्वाइन फ्लू के भारत में पाए गये 15 मामलों में से पांच में मरीजों को अस्पताल से छुट्टी दी जा चुकी है।

आजाद ने कहा कि इस संक्रमण से प्रभावित लोगों की भारत में संख्या आबादी के हिसाब से काफी कम है।  मुझे नहीं लगता कि घबराने की कोई जरूरत है। जहां तक हमारे देश का सवाल है, आबादी के आकार के मद्देनजर प्रभावित लोगों की संख्या काफी कम है। लेकिन ऐसा भी नहीं होना चाहिए कि कोई एहतियात ही न बरती जाए।

उल्लेखनीय है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ)  ने इस बीमारी को महामारी घोषित कर दिया है। उसने इस संक्रमण को लेकर एलर्ट की सीमा बढ़ाकर  छठे स्तर  पर कर दी है। भारत सहित दुनिया भर में स्वाइन फ्लू के कई और मामले प्रकाश में आए हैं।

भारत में दो और व्यक्तिओं में कल  (एक दिल्ली में और एक गोवा में) स्वाइन फ्लू के परीक्षण पॉजिटिव पाए गए। इस प्रकार देश में ऐसे मामलों की संख्या बढ़कर 15 हो गई है ।

गुलाम नबी आजाद ने कहा कि  हमने इस संबंध में पहले दिन से ही कदम उठा लिए थे। कई एहतियात पहले से ही बरते जा रहे है।  स्वास्थ्य मंत्रालय के आग्रह पर सरकार ने स्वाइन फ्लू से प्रभावित देशों में अपने मिशनों से कहा है कि वे संबद्ध सरकारों के लगातार संपर्क में रहें ताकि बाहर जाने वाले यात्रियों पर भली-भांति निगरानी रखी जा सके।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:स्वाइन फ्लू से दहशत में आने की जरूरत नहीं: आजाद