class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वैज्ञानिकों के पलायन पर बनेगी कमेटी

वैज्ञानिकों के पलायन पर बनेगी कमेटी

परियोजनाओं में देरी और वैज्ञानिकों के पलायन का सामना कर रहे रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) को नया रूप देने के लिए रक्षा मंत्री एके एंटनी ने एक उच्च स्तरीय समिति गठित करने का शुक्रवार को फैसला लिया।


रक्षा सूत्रों ने बताया कि रक्षा सचिव की अगुवाई में गठित यह समिति डीआरडीओ में सुधारों के लिए बनी रामाराव समिति की सिफारिशों का लागू करने का रोडमैप तैयार करेगी और इसके समयबद्ध क्रियान्वयन की रूप रेखा सुझाएगी।

एंटनी ने एक उच्च स्तरीय बैठक में रामाराव समिति की सिफारिशों की समीक्षा की। बैठक में तीनों सेनाओं के प्रमुखों के अलावा रक्षा, रक्षा वित्त, सचिव, रक्षा उत्पादन सचिव और पूर्व सैनिक कल्याण सचिव मौजूद थे।

डीआरडीओ की परियोजनाओं में हो रही देरी की रिपोर्टों को देखते हुए एंटनी ने दो साल पहले रामाराव समिति गठित की थी और इसकी सिफारिशें लंबे अर्से से नौकरशाही की मेजों का सफर कर रही थीं। रक्षा बलों के आधुनिकीकरण की सख्त जरूरतों को देखते हुए एंटनी ने अपने दूसरे कार्यकाल में आक्रामक तेवरों के साथ इस दिशा में चौतरफा पहल की है और डीआरडीओ को नया रूप देना उनकी प्राथमिकता में काफी ऊपर है।

रामाराव समिति ने अन्य बातों के अलावा एक टेक्नोलॉजी कमिशन के गठन की सिफारिश की थी, जिससे इस रक्षा संगठन की कार्यपद्धति का पूरा तौर तरीका ही बदल सकता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:वैज्ञानिकों के पलायन पर बनेगी कमेटी