class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारत दर्शन पर आई कनाडाई युवती के कपड़े फाड़ने का मामला, कमान्डेंट का प्रार्थना पत्र भी कोर्ट ने किया खारिज

भारत दर्शन पर आई कनाडाई युवती से यात्रा के दौरान छेड़छाड़ करने वाले सेना के जवान को कोर्ट ने जेल भेज दिया। अभियोजन की दलील सुनने के बाद फौजी का जमानत प्रार्थना पत्र खारिज कर दिया। आर्मी कमान्डेंट की ओर से कोर्ट मार्शल करने के लिए जमानत दिए जाने का प्रार्थना पत्र भी कोर्ट ने खारिज कर दिया।

कनाडा से तीन माह पहले एमी एलेक्जेन्डर और एडम भारत दर्शन के लिए यहाँ आए थे। बुधवार को दोनो गुवाहाटी नई दिल्ली सम्पर्क क्रान्ति एक्सप्रेस से वापस लौट रहे थे। ट्रेन के मुगलसराय पहुँचते ही एस वन कोच में बैठे राजपुताना राइफल्स के जवान धर्मेन्द्र सिंह ने एमी के साथ छेड़छाड़ शुरू कर दी। आरोप है कि नशे की हालत में उसने युवती के कपड़े फाड़ दिए। यात्रियों की मदद से आरपीएफ के जवानों ने उसे दबोच लिया।

कानपुर पहुँचकर एमी ने तहरीर दी। उसके आधार पर जीआरपी ने मुकदमा कायम कर लिया। गुरुवार को जीआरपी पुलिस ने धर्मेन्द्र को एमएम दो की कोर्ट में पेश किया। धर्मेन्द्र के वकील की ओर से जमानत प्रार्थना पत्र दिया गया था। इसके साथ ही राजपुताना राइफल्स के सेना कमान्डेंट की ओर से 475 सीआरपीसी के साथ आर्मी अधिनियम की धारा 420 और 70 के तहत प्रार्थना पत्र दिया गया।

जिसमें अपील की गई कि सेना धर्मेन्द्र का ट्रायल अपनी कोर्ट में चलाएगी। जहाँ उसका कोर्ट मार्शल किया जाएगा। इसके लिए कोर्ट से जमानत दिए जाने की अपील की गई थी। सेना कमान्डेंट और धर्मेन्द्र के वकील की ओर से दिए गए जमानत प्रार्थना पत्र पर एपीओ महेन्द्र कुमार दीक्षित ने जमानत का विरोध किया। कोर्ट को दी अपनी दलील में उन्होंने कहा कि आर्मी एक्ट के नियमों पर बहस करते हुए भी अभियुक्त को ट्रायल के दौरान कोर्ट मार्शल के लिए आर्मी को दिया जा सकता है।

इसके अतिरिक्त कोर्ट स्वयं भी विचार कर सकता है। मौजूदा हालात में ऐसा कोई भी नियम नहीं है, जिसके तहत तफ्तीश के दौरान आर्मी की सुपुर्दगी में अभियुक्त को दिया जा सके। लिहाज कोर्ट ने भी उनकी दलीलों में बल पाया।

एमएम-द्वितीय अनुतोष शर्मा ने दोनो प्रार्थना पत्र खारिज कर दिए। धर्मेन्द्र को न्यायिक हिरासत में लेते हुए जेल भेज दिया गया। इधर, केस को और पुख्ता बनाने के लिए जीआरपी इंस्पेक्टर बीडी मौर्या दोनो कनाडाई युगल के बयान दर्ज करने दिल्ली रवाना हो गए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:छेड़छाड़ में फौजी पहुँचा जेल