class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ओबामा की चिट्ठी

अमेरिका के उप विदेशमंत्री विलियम बर्न्स की भारत यात्रा से कोई नाटकीय परिवर्तन नहीं होना है, बल्कि वह भारत-अमेरिका के रिश्तों में निरंतरता के साथ सहज बदलाव की प्रक्रिया का हिस्सा है। अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा की चिट्ठी प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह के लिए बर्न्स लाए हैं और उस चिट्ठी का आशय यही है कि अमेरिकी विदेश नीति के लिए भारत का असंदिग्ध महत्व है।

ओबामा की अफगानिस्तान-पाकिस्तान नीति में पाकिस्तान पर ज्यादा जोर दिख रहा है और इसलिए कुछ भारतीय हल्कों में ऐसी सुगबुगाहट है कि अमेरिका के लिए भारतीय हित ज्यादा महत्वपूर्ण नहीं हैं। दूसरी सुगबुगाहट यह है कि पाकिस्तान के कहने पर अमेरिका कश्मीर में हस्तक्षेप के लिए सोच सकता है। बर्न्स की यात्रा में इन दोनों संदेहों को खत्म करने की कोशिश है।

ओबामा और अमेरिकी प्रशासन यह जनता है कि अफगानिस्तान-पाकिस्तान समस्या सुलझने में भारत महत्वपूर्ण है और इसके अलावा भी इक्कीसवीं शताब्दी के विश्व में अपनी आर्थिक और राजनीतिक शक्ित की वजह से भारत महत्वपूर्ण होगा। ऐसे में कश्मीर के मामले में अमेरिकी हस्तक्षेप की पाकिस्तानी मांग को मान कर अमेरिका भारत को नाराज नहीं करना चाहेगा।

लेकिन अमेरिकी यह जरूर चाहेंगे कि भारत-पाक के बीच 26/11 के बाद जो शीतयुद्ध चल रहा है, उस स्थिति में कुछ बदलाव आए। अमेरिकी विदेशमंत्री हिलेरी क्लिंटन की भारत यात्रा के पहले ही जमीनी स्तर पर कुछ बदलाव दिखे, ऐसा अमेरिका भी चाहेगा और भारत भी। 

अगर भारत ऐसी कुछ पहल करता है, तो उसके आधार पर अमेरिका पाकिस्तान पर आतंकवाद के ज्यादा खिलाफ और कार्रवाई के लिए दबाव डाल सकता है। भारत भी नहीं चाहेगा कि अनिश्चित काल के लिए भारत-पाकिस्तान संवाद बंद रहे। भारत एक मजबूत लोकतंत्र और बड़ी अर्थव्यवस्था है, इसलिए संवाद और खुलेपन से उसे लाभ ही होगा।

26/11 के बाद भारत में चुनावी माहौल शुरू हो गया था, इसलिए भी अनिश्चितता की स्थिति में बातचीत करना बेकार था। अब एक अच्छे खासे जनमत के साथ जीती हुई सरकार सत्ता में है, जो बातचीत की पहल आत्मविश्वास के साथ कर सकती है। आतंकवाद पर पाकिस्तान को घेरना जरूरी है, लेकिन साथ ही साथ खुलेपन और आत्मविश्वास से उसे निरस्त्र करना भी ज्यादा प्रभावी होगा। ओबामा की चिट्ठी और बर्न्स की यात्रा से जो जमीन
तैयार होगी, शायद उसका अच्छा असर हिलेरी क्िलंटन की यात्रा के पहले ही दिखना शुरू हो जाए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ओबामा की चिट्ठी