class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जनता ने दिया फैसला, अब सिर्फ काम की पूजा, 40 पुल और कंकड़बाग फ्लाईओवर का सीएम ने किया उद्घाटन

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सूबे के सभी कार्य विभागों को गुणवतपूर्ण काम करने की नसीहत दी है। उन्होंने कहा है कि जनता का संतोष ही सरकार का अंतिम लक्ष्य होता है। विकास के लिए पैसे की कमी नहीं है पर गुणवत्ता से किसी भी सूरत में समझोता नहीं किया जा सकता है।

बिहार राज्य पुल निर्माण निगम लिमिटेड के 34वें स्थापना दिवस पर श्री कुमार ने पुल निर्माण निगम को निर्माण के क्षेत्र का ध्वजवाहक करार देते हुए कहा कि निगम प्रतिष्ठित अंतर्राष्ट्रीय एजेंसी बनेगा। सरकार इसी के समान कुछ और निगमों का गठन कर रही है। उन्होंने कहा कि अब काम की ही पूजा होगी, जनता ने यह बता दिया है।

इस अवसर पर उन्होंने 310 करोड़ रुपए की लागत से निर्मित 140 पुलों का उद्घाटन करते हुए कहा कि निगम को ही इस रिकार्ड को तोड़ना होगा। इसके पूर्व उन्होंने चिरैयांटाड़ पुल से जुड़े कंकड़बाग फ्लाई ओवर का उद्घाटन कर उसे जनता को समर्पित किया। इसके साथ ही निर्माण कार्यो की ऑनलाइन मॉनिटरिंग और इनफॉरमेशन कियोस्क का भी उद्घाटन किया।

निर्माण कार्य की पारदर्शी जानकारी के लिए बनाये गये इनफॉरमेशन कियोस्क को उन्होंने सभी विभागों में लगाने की सलाह दी। समय पर गुणवत्तापूर्ण कार्य करने के लिए उन्होंने  पुल निर्माण निगम के 11 इंजीनियर और कर्मी तथा दो ठेकेदारों को सम्मानित किया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सूबे में सड़कों का जाल बिछेगा। सुदूर किसी भी गांव से राजधानी का सफर जिस दिन अधिकतम 6 घंटे के अन्दर तय हो जाएगा, माना जाएगा कि सूबे की सड़कें  ठीक हो गईं है। इसके लिए पथ निर्माण विभाग के साथ ही ग्रामीण कार्य विभाग को भी काम करना होगा।

उन्होंने कहा कि अब गांवों में लोग इत्मीनान से सो रहे हैं। इससे स्पष्ट है कि कानून व्यवस्था नियंत्रण में है। स्वास्थ्य और शिक्षा के क्षेत्र में भी काफी काम हुआ है। बिहार अब तरक्की के रास्ते पर आ गया है। बिहार और बिहारी दोनों का कोई मुकाबला नहीं है।

उन्होंने कहा कि सिर्फ पुल निर्माण निगम का ही रिवाइल नहीं हुआ है बल्कि पूरे बिहार का ‘टर्न अराउंड’ हुआ है। सड़क का संबंध अर्थतंत्र से है। सड़कें ठीक होंगी तो कच्चे कृषि उत्पादों की बर्बादी कम होगी और विकास की नयी कहानी लिखी जाएगी।

उन्होंने केन्द्र सरकार पर राष्ट्रीय उच्चपथों का निर्माण नहीं करने का आरोप लगाते हुए कहा कि राज्य सरकार ने 711 करोड़ रुपए अपने मद से उनके सुदृढ़ीकरण में लगाया है। समारोह को पथ निर्माण मंत्री प्रेम कुमार, मुख्य सचिव आर.जे.एम. पिल्लई, विकास आयुक्त अनूप मुखर्जी, पथ निर्माण विभाग के प्रधान सचिव आरके सिंह, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव आरसीपी सिंह, पुल निर्माण निगम के अध्यक्ष प्रत्यय अमृत और एमडी एके झा समेत कई और अधिकारियों ने संबोधित किया।

इस अवसर पर कंकड़बाग फ्लाई ओवर के निर्माण, पंचाने नदी पर निर्मित वियर, अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेला-2008, मोबाइल इस्पेक्टर आदि के क्षेत्र में पुल निर्माण निगम की उपलब्धियों को लघु फिल्म के माध्यम से दिखाया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गुणवत्तापूर्ण निर्माण से किसी भी सूरत में समझोता नहीं: मुख्यमंत्री