class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पाक सेना का इम्तिहान अभी बाकी: यूएस

पाक सेना का इम्तिहान अभी बाकी: यूएस

अफगानिस्तान और पाकिस्तान के लिए अमेरिका के विशेष दूत रिचर्ड हॉलब्रूक का कहना है कि तालिबानियों के हमलों की वजह से पाकिस्तान सरकार और वहां की आवाम के रवैये में बदलाव आ रहा है, लेकिन सेना का इम्तिहान अभी बाकी है।

हॉलब्रूक ने पेशावर के पर्ल होटल में हुए विस्फोट का हवाला देते हुए संवाददाताओं से कहा, ‘‘मेरा मानना है कि ये हमले पाकिस्तानी जनता में आक्रोश पैदा कर रहे हैं।’’

पिछले सप्ताह पाकिस्तान दौरे से लौटे हॉलब्रूक ने कहा कि तालिबान के खिलाफ पाक सेना की कार्रवाई ने अमेरिका को प्रभावित किया है, लेकिन सेना भी जानती है कि इम्तिहान अभी बाकी है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तानी सरकार और सेना को यह सुनिश्चित करना होगा कि करीब 20 लाख विस्थापित अपने घरों को वापस जा सकें।

उनसे जब पूछा गया कि क्या पाक सेना स्वात पर कब्जा कर लेगी तो उन्होंने कहा, ‘‘देखते हैं।’’ हॉलब्रूक ने अपने पाकिस्तान प्रवास के दौरान मारदान प्रांत के शेख शाहजाद और स्वाबी प्रांत के शाह मंसूर शिविरों का दौरा किया था। उन्होंने कहा, ‘‘विस्थापित समझते हैं कि पाक सेना ने कार्रवाई क्यों शुरू की है।’’

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पाक सेना का इम्तिहान अभी बाकी: यूएस