class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कांग्रेस की बैठक में जोरदार हंगामा, कार्यकर्ताओं ने बलमुचू को दौड़ाया

स.स्सा.सा नेतागिरी करते हो, बांधकर मारेंगे। कहां गया रे, ऊ बहुते चिल्ला रहा था। पकड़ो, मारो. मारो। धक्का मुक्की। कुछ ऐसा ही नजरा था प्रदेश कांग्रेस की समीक्षा बैठक का। विधानसभा परिसर स्थित सभागार के ऊपरी तल्ले में बुधवार को प्रात: 11.45 बजे बैठक शुरू हुई। गेट पर सेवादल के लोग तैनात थे।

11.40 बजे प्रदीप तुलस्यान आये और आलोक दुबे को अंदर जने के लिए कहा। सीढ़ी के पास खड़े मदन मोहन शर्मा ने उन्हें रोक दिया। कहा- दुबे जी आमंत्रित नहीं हैं। तुलस्यान गुस्साए और  दोनों पक्षों में तू-तू, मैं-मैं हुई। 12.15 पर गोड्डा बोकारो और धनबाद के कार्यकर्ता ऊपर जाने की कोशिश करने लगे। सेवादल के कार्यकर्ताओं ने उन्हें रोका, तो वे नारेबाजी करने लगे। 

लोग  बोकारो, धनबाद और गोड्डा के जिलाध्यक्ष को हटाने की मांग कर रहे थे। कहा - जिलाध्यक्षों ने पार्टी विरोधी कार्य किया है। वे प्रदेश अध्यक्ष के विरोध में भी नारेबाजी कर रहे थे। मुर्दाबाद के नारों से पूरा इलाका गूंजता रहा। ऊपर बैठक की कार्यवाही रोक दी गयी।

प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप कुमार बलमुचू और विधायक इजरायल अंसारी नीचे उतरे और जानना चाहा कि क्या हुआ? उन्हें देखकर कार्यकर्ता और जोर-जोर से मुर्दाबाद के नारे लगाने लगे। अंसारी के साथ बलमुचू बाहर निकले। कार्यकर्ताओं ने उन्हें घेर लिया। धक्का मुक्की करने लगे। बलमुचू के अंगरक्षकों ने उन्हें घेर लिया और गाड़ी के अंदर बैठाया। 

बलमुचू की गाड़ी आगे बढ़ी, तब आक्रोशित कार्यकर्ताओं ने उन्हें दौड़ाया। बलमुचू कार से निकल गये। फिर नारेबाजी शुरू हुई। महानगर अध्यक्ष विनय सिन्हा दीपू ने समर्थकों के साथ नारेबाजी करने वालों को धौंसाते हुए कहा- नेतागिरी करते हो, बांध कर मारेंगे। हो-हंगामा सुनकर प्रदेश सह प्रभारी अब्दुल मन्नान भी बैठक छोड़कर बाहर आये। वह एक मारुति कार के बोनट पर चढ़ गये और हंगामा करने वालों को शांत कराने की कोशिश की।

 
प्रदेश, जिला, प्रखंड कमेटी भंग करें : फुरकान:  पूर्व सांसद फुरकान अंसारी ने प्रदेश, जिला और प्रखंड कांग्रेस कमेटी को भंग करने की मांग की है। उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की करारी हार हुई है। सभी कमेटियों को भंग कर सक्रिय लोगों को लेकर नये सिरे से कमेटी का गठन किया जाना चाहिए।

गोड्डा में अपनी पराजय पर उन्होंने कहा- इसकी जिम्मेवारी मैं खुद लेता हूं। उनका सुझव था- विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को किसी दल से गठबंधन नहीं करना चाहिए। सभी 81 सीट पर अकेले चुनाव लड़ना चाहिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नेतागिरी करते हो, बांधकर मारेंगे