class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सीवी को बचाएं

जब भी आप अगली बार अपना सीवी तैयार करें, तो ऐसे कुछ विशेष शब्दों और वाक्यांशों से इसे बचाकर रखें, जिनका इस्तेमाल आजकर सीवी में आम हो चला है। लेकिन हकीकत ये है कि भर्ती करने वाली कंपनी के एचआर प्रबंधक इनसे चिढ़ सकते हैं।

जिनसे करनी है तौबा

रिस्पांसिबल फॉर- ये शब्द लोग अक्सर अपने सीवी में बड़ी तबियत से सजाते हैं, लेकिन नियोक्ता इससे इसलिए चिढ़ सकता है कि इससे विशिष्ट जिम्मेदारी को निभाने की आपकी योग्यता का कुछ भी पता नहीं चलता। सीवी में साफ बताएं कि जो जिम्मेदारी आपने निभाई या निभाना चाहते हैं, उससे कंपनी का कितना और कैसा फायदा हो सकता है। वरना जिम्मेदारी से काम करना तो हर कर्मचारी की ड्यूटी होती है, इसमें आपकी बहादुरी क्या?

रिजल्ट ओरिएंटेड  इनडिविजुअल - ऐसा वक्तव्य भी सीवी में देना ठीक नहीं। परिणाम तो आपको देना ही होगा। वरना आपको भर्ती ही क्यों कर रहे हैं? नियोक्ता आपमें अपने निवेश का रिटर्न चाहता है। इसलिए अपनी उपलब्धियां और क्षमताएं बताइए।

एक्सीलैंट प्रोजेक्ट मैनेजमेंट स्किल्स - इस लंबे से इजहार का सीधा सा मतलब है कि आप आर्गनाइज्ड हैं। इसलिए स्पष्टतः बताइए कि आपने अब तक ऐसा क्या किया है, जिससे आपकी व्यक्तिगत संगठन क्षमता का पता चलता हो। मसलन पिछली कंपनी में आपने किसी प्रोजेक्ट या मैन-मैनेजमेंट की ऐसी नई परिपाटी शुरू की हो, जिससे कंपनी को अच्छा फायदा पहुंचा हो।

इफैक्टिव टीम प्लेयर - ये तो आपको होना ही पड़ेगा। फिर सीवी में इसे खास काबिलियत के तौर पर क्यों दर्ज कर रहे हैं? इसके बजाय ये बताइए कि आपके किस खास रोल ने आपकी टीम को खास कामयाबी दिला दी।

धर्म, ववाहिक स्थिति और बीमारियां - ये चीजें सीवी में देने से क्या हासिल होगा? इनसे नियोक्ता को क्या लेना देना?

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सीवी को बचाएं