class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पांच मिनट में ग्रेनो से फरीदाबाद को हरी झंडी

ग्रेटर नोएडा से हरियाणा मात्र पांच मिनट में पहुंचा जा सकेगा। यह बात आश्चर्यजनक भले ही लगे किंतु अथॉरिटी ने जो योजना तैयार की है उसे देखते हुए नोएडा दूर और फरीदाबाद नजदीक लगने लगा है। दरअसल अथॉरिटी सफीपुर कोंड़ली गांव के पास से हरियाणा तक एक नया एक्सप्रेस वे बनाने जा रही है। छह लेन चौड़े इस एक्सप्रेस वे की सव्रे रिपोर्ट तैयार कर ली गई है। प्रोजेक्ट को दोनों प्रदेश सरकारें संयुक्त रूप से बनाने पर सहमत हो गई है।
अभी तक शहर से हरियाणा के फरीदाबाद और बल्लभगढ़ जाने के लिए सरिता विहार से होकर जाना पड़ता है। इस्टर्न पैरिफिरल एक्सप्रेस वे के बन जाने से वहां पहुंचना और भी आसान हो जाएगा। ग्रेटर नोएडा के सफीपुर क्यामनगर से हरियाणा के तिगांव तक सर्वे करा लिया गया है। ग्रेटर नोएडा और फरीदाबाद के इन गांवों के बीच मात्र सात किलोमीटर का फासला है।


कुछ इसी तरह की योजना वर्षो पूर्व नोएडा, फरीदाबाद और गाजियाबाद विकास प्राधिकरणों ने मिलकर तैयार की थी। एफएनजी के नाम से बनायी गयी उक्त योजना का कुछ हिस्सा नोएडा के सेक्टर 93 के पास बना लिया गया है लेकिन यमुना नदी पर पुल कहां बनेगा और गाजियाबाद को कहां जोड़ा जयेगा यह अभी तक तय नहीं है। एसीइओ सुधीर कुमार का कहना है कि ग्रेटर नोएडा फरीदाबाद एक्सप्रेस वे का हाल ऐसा नहीं होगा। एक्सप्रेस वे का बजट तैयार कर लिया गया है। छह लेन चौड़े इस प्राजेक्ट पर करीब दो सौ करोड़ रूपये खर्च होने की उम्मीद है। यमुना नदी पर आने वाले खर्च को हरियाणा सरकार वहन करने पर सहमत हो गयी है। प्रस्ताव को स्वीकृति के लिए शासन को भेज दिया गया है। स्वीकृति मिलते ही काम शुरू कर दिया जायेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पांच मिनट में ग्रेनो से फरीदाबाद को हरी झंडी