class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शाश्वत सत्ता

पहले सामान्य ज्ञान का एक सवाल। उत्तर कोरिया के राष्ट्रपति का नाम क्या है? समझदार लोग शायद बताएंगे किम जोंग इल। जो लोग पिछले दिनों अखबार ध्यान से पढ़ते रहे हों वे यह भी बता पाएंगे कि किस जोंग इल के बेटे किम जोंग इल को भविष्य में राष्ट्रपति बनाया जाएगा। 

ये दोनों जवाब गलत हैं- उत्तर कोरिया के राष्ट्रपति किम उल सुंग और भविष्य में भी वे राष्ट्रपति रहेंगे। किम इल सुंग उत्तर कोरियाई सरकार की 1948 में विधिवत स्थापना के बाद राष्ट्रपति हुए थे और सन् 1994 में उनका निधन हुआ।
   लेकिन उन्हें उत्तर कोरिया का शाश्वत राष्ट्रपति घोषित किया गया है। इसलिए उनके सुपुत्र भले ही वहां तानाशाह हों,
उनका आधिकारिक पद राष्ट्रपति का नहीं है और उनके पोते का भी नहीं होगा। किम इल सुंग क्रांतिकारी थे, इसलिए उनके खानदान में यह क्रांतिकारी काम हुआ कि वे मरने के बाद भी राष्ट्रपति बने रहे। अपने यहां के नेता क्रांतिकारी नहीं हैं, पूंजीवादी, सामंतवादी और इसी किस्म के हैं, इसलिए अपने बाल-बच्चों को अपना पद दे डालते हैं, लेकिन किम इल सुंग से वे प्रेरणा तो ले सकते हैं और अपना पद मरणोपरांत भी रख सकते हैं।
कुछ लोग कह सकते हैं कि यह किम इल सुंग ने नहीं, उनके बेटे किम जोंग इल ने अपने पिता को शाश्वत राष्ट्रपति घोषित किया। लेकिन क्या फर्क पड़ता है,
कितने लोग दोनों के बीच फर्क बता सकते हैं। तस्वीरें साथ-साथ रख दी जाएं तो कितने लोग बता सकते हैं कि  कौन बेटा है, कौन बाप?
जैसे हिंदी फिल्मों में होता है कि अमिताभ बच्चन ही सफेद बालों में पिता की भूमिका करते हैं और फिर बाल काले करके उसके बेटे की भूमिका करते हैं।  खानदान की तीसरी पीढ़ी के बारे में तो कुछ पता ही नहीं कि किम जोंग कैसे दिखते हैं, क्योंकि उनकी एक ही तस्वीर उपलब्ध है, जो लगभग 15 साल पुरानी है, जब वे 11 साल के थे।
इस बात से हमारे देश के पारिवारिक राजनीति के लोग काफी शिक्षा ग्रहण कर सकते हैं। हमारे यहां सूरतें तो उतनी नहीं मिलतीं, जितनी किम इल सुंग और किम जोंग इल की मिलती हैं, लेकिन सीरतें तो मिलती ही हैं।
कई नेताओं के सत्ता मोह को देखकर यह लगता है कि उन्हें शाश्वत मंत्री घोषित कर दिया जाए और उनके मरने के बाद भी उनके सम्मान में एक लाल बत्ती की गाड़ी आरक्षित कर दी
जाए। कई लोगों को मरणोपरांत मंत्री पद भी दिया जा सकता है, खतरा बस यही है कि उनका भूत आकर राज चलाने की जिद न करने लगे।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:शाश्वत सत्ता